MP : काेरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर परिवहन विभाग की तैयारी शुरू : 100 टैंकर चालकों को आक्सीजन टैंकर चलाने की दी जाएगी ट्रेनिंग

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

इंदौर । काेरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर परिवहन विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। जल्द ही सात दिवसीय प्रशिक्षण शिविर आयोजित कर 100 टैंकर चालकों को आक्सीजन टैंकर चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी। यह टैंकर चालक जरूरत पड़ने पर आक्सीजन के टैंकर चलाएंगे। खास बात यह है कि इन चालकों को टैंकर चलाने की ट्रेनिंग पीथमपुर में बने नेट्रिप, आयशर और मांगलिया में हिंदुस्तान पेट्रोलियम के ट्रैक पर दी जाएगी।

निकल गई हेकड़ी : जहां करते थे दादागीरी, वहीं निकाला गुंडों का जुलूस, गैंगस्टर सतीश भाऊ, चिंटू ठाकुर, शूटर रितेश और मोनू का निकला पैदल जुलूस

संभागीय परिवहन उपायुक्त सपना जैन ने बताया कि हम लोग तीसरी लहर को लेकर तैयारी कर रहे है, इसलिए इन चालकों को तैयार किया जा रहा है कि कभी भी किसी जरूरत के समय प्रशिक्षित चालकों की कमी ना हो। हम सात दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन करने जा रहे है। संभवत: अगले सप्ताह तक इसे शुरू कर दिया जाएगा। इसके लिए नेट्रीप में भी बात चल रही है।

28 अगस्त से रोजाना फ्लाइट : पहली बार इंदौर से जबलपुर के लिए सीधे उड़ान भरेगी इंडिगो फ्लाइट : ये होगा टाइम

तीनों स्थानों पर दो-दो दिनों का प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिससे चालक हर परिस्थति में आक्सीजन टैंकर चला ले। जैन ने बताया कि पिछले दिनों भी हमने नंदा नगर आइटीआइ में आए करीब 35 चालकों को आक्सीजन टैंकर चलाने का प्रशिक्षण दिया था, जिसमें टैंकर के साथ-साथ उन्हें प्लांट का निरीक्षण भी करवाया था। इन 100 चालकों को भी प्लांट का निरीक्षण करवाया जाएगा।

नदी के बीचों-बीच स्थित हैं जलेश्वर महादेव : देखने पर त्रिशूल जैसी आकृति : ऐसी है पौराणिक मान्यता ... जरूर पढ़िए

गौरतबल है कि दूसरी लहर में आक्सीजन की कमी होने पर वायुसेना की मदद ली गई थी। जो इंदौर से आक्सीजन टैंकरों को एयर लिफ्ट कर बोकारो, जामनगर, रांची ले जाते थे। वहां से इन टैंकरों को सड़क मार्ग से लाया जाता था। सीमित संख्या में चालक होने से वे लोग लगातार टैंकर चला रहे थे। इसी के बाद से संभावित तीसरी लहर को देखते हुए तैयारी की जा रही है।

Powered by Blogger.