REWA : लड़कियों को प्रताड़ित करने का मामला उजागर : चिरहुला वन स्टॉप सेंटर की संचालक ने विछिप्त महिला के बॉल पकड़कर कर दी पिटाई, सोशल मीडिया में वीडियो सामने आने से हड़कंप

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


रीवा शहर के चिरहुला वन स्टॉप सेंटर में एक विक्षिप्त महिला के साथ बर्बरता का वीडियो वायरल हुआ है। वायरल वीडियो में वन स्टॉप सेंटर की संचालक पिटाई करते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। जिसका वीडियो बीते कई दिन से शहर में वायरल हो रहा था। बुधवार को घूम फिर कर यह वीडियो कलेक्टर इलैया राजा टी के मोबाइल तक पहुंच गया। ऐसे में कलेक्टर ने तुरंत मामले को संज्ञान में लिया। साथ ही अनुशात्मक कार्रवाई की अनुशंसा करते हुए नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब मांगा है।

सुई से लेकर प्लेन जैसी कलाकृति बनाने का हुनर, PM मोदी ने पूछा- क्या चाहते हो? जवाब- कुछ नहीं, बेटी आपकी फैन, उसकी इच्छा पूरी कर दी : रहने के लिए न घर न बैंक बैलेंस

मिली जानकारी के मुताबिक बीते दिन पहले चिरहुला वन स्टॉप सेंटर की प्रशासिका मनोज शुक्ला विक्षिप्त महिला को जांच कराने अस्पताल ले जा रहीं थी। लेकिन महिला नहीं जा रही थी। ऐसे में विछिप्त महिला के बॉल पकड़कर प्रशासिका पीटने लगी। अंत में प्रशासिका महिला की जांच कराने के उपरांत ग्वालियर मेंटल हास्पिटल भेजवा दिया। इसी पिटाई का सीसीटीवी फुटेज किसी ने सोशल मीडिया में वायरल कर दिया। जो बुधवार की सुबह से वायरल होते हुए कलेक्टर तक पहुंच गया। ऐसे में कलेक्टर ने तुरंत वन स्टॉप सेंटर की प्रशासक मनोज शुक्ला के मामले को संज्ञान में लिया।

अतिक्रमण का मामला : कलेक्टर का आदेश नहीं मान रहे सिरमौर तहसीलदार, साहब मुझे अपनी जमीन पर जोतने और बोनी के लिए सुरक्षा दिलाइए

वनस्टाप सेंटर से पहली लड़की 29 जून को गायब हुई थी जबकि 25 जुलाई की रात दूसरी लड़की गायब हो गई। लड़कियों के गायब होने के मामले में भी वन स्टॉप सेंटर की प्रशासक की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही थी क्योकि एक लड़की के गायब होने के बाद भी वह सचेत नहीं हुई और दूसरी लड़की भी गायब हो गई। अब प्रशासक खुद किशोरियों को प्रताड़ित करती CCTV में कैद हो गई है।

नई गाइडलाइन जारी : 1 अगस्त से प्रवेश प्रक्रिया शुरू : आपराधिक प्रकरण वालों को कॉलेज में नहीं मिलेगा एडमिशन

पद से पृथक करने की हुई अनुसंशा

महिला के साथ अभद्रता करने के वीडियो वायरल होने पर महिला बाल विकास अधिकारी प्रतिभा पाण्डेय को कलेक्टर ने तलब किया है। कहा है कि ऐसे कर्मचारियों को तुरंत पद से पृथक करने की अनुसंशा की जाए। कलेक्टर ने निर्देशानुसार महिला बाल विकास अधिकारी ने अनुशात्मक कार्रवाई की अनुशंसा करते हुए नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब मांगा है।



Powered by Blogger.