REWA : विंध्य की पहला अपारेशन : डॉक्टरों ने 60 साल के बुजुर्ग की आंत काटकर बनाई पेशाब की थैली

रीवा. सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में यूरोलॉजी विभाग के चिकित्सकों क्रिटिकल आपरेशन कर मरीज की जान बचाई है। लंबे समय से बीमार मरीज के पेशाब की थैली का आपरेशन कर आंत के मांस से नई थैली बनाई है। इसके लिए सात घंटे तक अपरेशन की प्रक्रिया चली। चिकित्सकों दावा है कि विंध्य में ऐसा पहली बार आरपेशन सुपर स्पेशलिटी में किया गया है। पूरी तरह सफल है।

नाकाबपोश बदमाशों ने घर में घुसकर बुजुर्ग महिला से की लाखों की लूट, सोना-चांदी के जेवर और 15 हजार कैश लेकर फरार

किडनी में नाली निकालकर पेशाब बाहर निकालने का रास्ता बनाया

यूरोलॉजिस्ट डॉ बृजेश तिवारी ने बताया कि सेमरिया क्षेत्र के मरीज 60 साल के बैननाथ कुशवाहा के पेशाब बंद हो गई थी। जांच की गई तो पता चला कि डेढ़ किलो के मांस का गठन बन गया है। जिससे पेशाब नली पूरी तरह ब्लाक हो गई है। चिकित्सकों ने बताया कुछ घंटे और रहता तो मरीज की मौत हो जाती है। चिकित्सकों ने इमर्जेंसी में मरीज के दोनों किडनी में नाली निकालकर पेशाब बाहर निकालने का रास्ता बनाया। पांच दिन तक अस्पताल में भर्ती रखने के बाद दो दिन पहले पेशाब के रास्ते के गठान को आपरेशन किया गया। जिसमें कैंसर का करीब डेढ़ किलो तक गठन निकला।

मां के सामने घर से खेलने निकला था मासूम, शव देख परिजनों के उड़े होश : परिजन मान रहे हत्या तो पुलिस बता रही हादसा

आंत से मांस को काटकर पेशाब की नई थैली

सात घंटे तक आपरेशन चला। आपरेशन के दौरान आंत से मांस को काटकर पेशाब की नई थैली बनाई। पांच दिन तक भोजन नहीं दिया गया। आंत का ठीक होने पर भोजन दिया जाने लगा। ठीक होने पर मरीज को सोमवार को डिस्चार्ज किया गया। डॉ बृजेश तिवारी ने बताया कि आपरेशन के दौरान डॉ सुरेश, डॉ लाल प्रवीन सिंह सहित अन्य स्टाफ शामिल रहा।

Powered by Blogger.