रीवा में गोली चलने की घटना का हुआ खुलासा : हादसे को भुनाने विरोधी परिवार के​ खिलाफ दर्ज करवा दिया हत्या के प्रयास का मुकदमा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा जिले के सेमरिया थाना अंतर्गत खारा गांव में 15 अगस्त की रात गोली चलने की घटना झूठी निकली है। पुलिस का दावा है कि घायल बेटी के पिता से देशी कट्टा साफ करते समय गलती से ट्रिगर दब जाने से गोली चल गई थी। फिर इसी हादसे को भुनाने के लिए सिंह परिवार ने अपने विरोधी आदिवासी परिवार के​ खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज करवा दिया। लेकिन संजय गांधी स्मृति हॉस्पिटल में घायल बच्चों का बयान लेने पहुंची पुलिस की दूसरी टीम ने दूध का दूध पानी का पानी कर दी।

मोहल्ले के बीच बने मुक्तिधाम को लेकर विवाद : सड़क पर शव रखकर लगाया जाम, एसपी और एसडीएम ने निकाला समाधान

दरअसल बच्चे पुलिस के सवाल का सही जवाब नहीं दे पाए। साथ ही घायल बच्चे शुरू से ही पुलिस के सवालों में उलझ रहे। यहीं से घटनाक्रम में संदेह पैदा हो गया। फिर पुलिस ने आरोपी राजेश कोल का बयान ली। जिसने पूरी घटना के बारे में अनभिज्ञता जाहिर की। साथ ही इस मामले में अपना नाम घसीटना बताया। इसके बाद पुलिस ने ​शिकायतकर्ता तोषण सिंह के भाई विपिन सिंह का बयान लिया, जहां वह भी बातों में उलझ गया। अंत में पुलिस के सामने टूट गया और पूरी सच्चाई स्वीकार कर ली।

मोहल्ले के बीच बने मुक्तिधाम को लेकर विवाद : सड़क पर शव रखकर लगाया जाम, एसपी और एसडीएम ने निकाला समाधान

वारदात के दिन यह था आरोप

सेमरिया थाना क्षेत्र के खारा गांव में सुनीता पिता विपिन सिंह (13), निहाल सिंह​ पिता तोषण सिंह (6) निवासी खारा घर के बाहर खेल रहे थे। रविवार की रात 7 से 8 बजे के बीच हुई वारदात के समय लाइट भी चली गई थी। तभी राजेश कोल द्वारा फायरिंग करने का आरोप लगा था। गोली चलने की वारदात के बाद दोनों चचेरे भाई-बहन घायल होकर जमीन पर गिर गए। जहां बहन के पैर तो भाई के हाथ में गोली लगी थी। वहीं घर में मौजूद दादी, बड़ी मम्मी व चाची गोलियों की आवाज सुनकर बाहर की ओर दौड़कर आई। देखे तो दोनों घायल पड़े थे। इसी बीच सुनीता सिंह का भाई अजय सिंह बाइक से आटा लेकर घर आ रहा था। जिसने आरोपी राजेश कोल को अपनी बाइक की लाइट से भागते देखा।

रीवा से नर्मदा उद्गम के दर्शन करने अमरकंटक जा रहा परिवार हुआ भीषण हादसे का शिकार : एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत : 4 लोग घायल

ऐसे हुई जांच की शुरुआत

रविवार की रात गोली चलने की घटना के बाद एसपी राकेश सिंह की निर्देश पर सिरमौर एसडीओपी पीएस परस्ते, सेमरिया थाना प्रभारी निरीक्षक अशोक गर्ग के साथ सोमवार को घटनास्थल का निरीक्षण करने खारा गांव पहुंचे थे। इसके बाद एफएसएल यूनिट को मौके पर बुलाया गया था। एक तरफ अस्पताल में बच्चों के पुलिस के सवाल का गलत जवाब। वहीं दूसरी तरफ बच्चों के उलझे हुए जवाब से घटना पर संदेह पैदा हुआ। घटना के चश्मदीद से फायर कि दूरी, दिशा आदि के बारे में जानकारी ली गई तो जिस दूरी से गोली चालाने की बात बताई गई। इतनी रेंज उस वेपन कि होती ही नहीं है। लिहाजा पीड़िता के पिता विपिन सिंह और चाचा तोषण सिंह आदि से पूछताछ में दूसरी कहानी सामने आई।

 उड़ता रीवा : प्रॉपर्टी डीलर को दोपहर में मिली धमकी और रात में हो गई हत्या : लाठी-डंडों से हमला कर आरोपी फरार : जांच में जुटी पुलिस

गोली चलने की कहानी पिता की जुबानी

पुलिस के सवालों से चौतरफा घिरे विपिन सिंह ने बताया कि घर के बाहर आंगन में कट्टे को साफ कर रहा था। वहां पर उसकी बेटी और भाई तोषण सिंह का लड़का खड़ा हुआ था। विपिन सिंह से गलती से कट्टे का ट्रिगर दब गया। जिसमे विपिन की लड़की और भाई का लड़का घायल हो गया। इस हादसे को हत्या का प्रयास दिखाने के लिए संबंधित के विरूद्ध सेमरिया थाने में झूठा मुकदमा पंजीबद्ध करा दिया।

इंस्टाग्राम की अश्लील साइट पर अज्ञात व्यक्ति ने युवती का फोन नंबर डाला, परेशान होकर युवती पहुंची थाने : आईटी एक्ट का मामला दर्ज

घटना में प्रयुक्त देशी कट्टा जब्त

सेमरिया पुलिस ने घटना में प्रयुक्त देशी कट्टा को विपिन सिंह से जब्त कर लिया था। साथ ही उसके विरुद्ध 25 आर्म्स एक्ट का मामला दर्ज किया है। बाद में आरोपी के खिलाफ मेमो के आधार पर धारा 27 आर्म्स एक्ट एवं अन्य धाराएं बढ़ाई जाएगीं। जबकि तोषण सिंह सहित अन्य के द्वारा झूठी रिपोर्ट लिखाने पर पृथक से कार्रवाई की जाएगी। वहीं अब पूरे मामले में पुलिस गोली चलाने पर धारा 307 एवं आर्म्स एक्ट के साथ आरोपी तोषण सिंह और विपिन सिंह के विरुद्ध आईपीसी की धारा 182, 211 की कार्रवाई कर इस्तगासा तैयार कर जल्द ही न्यायालय में पेश करेगी।

Powered by Blogger.