REWA : युवा व्यापारी को पुलिस ने 14 घंटे में छुड़ाया : मां को फोन कर मांगी आठ लाख की फिरौती, SP की सूझबूझ से मिली सफलता : दो कट्टा व कारतूस बरामद



रीवा जिले के जवा थाना अंतर्गत गढ़वा गांव से अपहृत हुए युवा व्यापारी को 14 घंटे के अंदर मुक्त करा दिया गया है। पुलिस की मानें तो अपहरण कर्ताओं ने परिजनों से 8 लाख की फिरौती मांगी थी। ऐसे में जवा पुलिस को सूचना दी गई। अपहरण की बात सुनकर पहले तो जवा पुलिस के होश उड़ गए। फिर आला अधिकारियों को जानकारी दी गई।


आधा रात एसपी नवनीत भसीन भारी पुलिस बल लेकर मौके पर पहुंचे। जिन्होंने साइबर सेल की मदद से पूरी रात जंगलों में सर्चिंग की। सुबह 6 बजे एसडीओपी समरजीत सिंह, थाना प्रभारी कन्हैया बघेल सहित पुलिस बल ने व्यापारी को डोडव जंगल के अंदर बनी निर्माणाधीन गौशाला से मुक्त कराया। साथ ही वारदात को अंजाम देने वाले दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

एसपी नवनीत भसीन ने बताया कि शिवम कोल (17) निवासी जवा खाद बीज की दुकान गढ़वा गांव में संचालित करता है। जिसको बुधवार की शाम करीब 4 बजे उसके दोस्त लल्ली सिंह और रितिक सिंह निवासी डोडव ने नाबालिग व्यापारी की स्कूटी में बैठाकर अपहरण कर लिया। ​इसके बाद आरोपी व्यापारी को लेकर डोडव जंगल पर पहुंच गए।

जिन्होंने रात करीब 8 बजे व्यापारी का मोबाइल छीनकर मां को फोन किया। कहां तुम्हारा बेटा हमारे कब्जे में है। अगर सुरक्षित चाहते हो तो 8 लाख रुपए लेकर जंगल में आ जाओ। हां एक बात ध्यान रखना, अगर पुलिस को भनक लगी तो बेटा जान से जाएगा। इतना कहकर फोन काट दिया और मोबाइल स्वीच आफ कर दिया।

अनहोनी के डर से पुलिस को दी खबर
रात करीब 9 बजे पति को बेटे के अपहरण की जानकारी देने के बाद मां ने करीब 10 बजे जवा थाना प्रभारी कन्हैया सिंह बघेल को सूचना दी। ​अपहरण और फिरौती में 8 लाख की बात सुनकर थाने में हड़कंप मच गया। तुरंत एसपी नवनीत भसीन, एएसपी शिव कुमार वर्मा व एसडीओपी समरजीत सिंह को पूरे मामले से अवगत कराया गया। इसके बाद एसपी ने संबंधित मोबाइल नंबर को साइबर सेल की मदद से ट्रेस किया तो अंतिम लोकेशन डोडव जंगल पर मिली।

आधी रात एसपी भारी पुलिस बल के साथ जवा रवाना
​अपहरण और 8 लाख की फिरौती की सूचना पर जवा थाना पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। ऐसे में एसडीओपी समरजीत सिंह और थाना प्रभारी कन्हैया सिंह बघेल जवा पुलिस के साथ अतरैला और पनवार थाने का पुलिस बल लेकर जंगल में सर्चिंग शुरू कर दी। रात करीब 1 बजे एसपी के साथ आधा सैकड़ा पुलिस बल अन्य थानों से पहुंच गया।

बदमाशों पर पुलिस ने बनाया दबाव
एसपी ने बताया कि जिस तरह से बदमाश व्यापारी का अपहरण कर लिए। फिर मोबाइल को स्वीच आफ कर लिया। इसके बाद खतरे की आशंका को देखते हुए आसपास के गांव वालों व नात रिश्तेदारों पर दबाव बनाया। साथ ही पुलिस के साथ गांव वालों को जंगल पर भेजा गया। तब कहीं जाकर गुरुवार की सुबह करीब 6 बजे डोडव जंगल में बनी निर्माणाधीन गौशाला से व्यापारी को सकुशल बचा लिया गया है।

दो बदमाश गिरफ्तार, दो कट्टा व कारतूस बरामद
जवा पुलिस ने बताया कि अपहरणकर्ता लल्ली सिंह और रितिक सिंह निवासी डोडव को जंगल से गिरफ्तार कर थाने लगा गया है। उनके कब्जे से दो कट्टा व कारतूस बरामद हो गया है। इधर पुलिस आरोपियों से पूरे मामले की कहानी जानने की कोशिश कर रही है।​ जिससे पता लगाया जा सके कि उनके निशाने पर कौन कौन थे।
Powered by Blogger.