REWA : देवांशु मिश्रा की हत्या में नया खुलासा : ड्रग्स लेने के आदी थे तीनों आरोपी, होटल में खाने के लिए नहीं थे पैसे इसलिए दिया था लूट की वारदात को अंजाम और हो गई हत्या

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

इंदौर में रियल एस्टेट कंपनी के सेल्स डायरेक्टर देवांशु मिश्रा की हत्या में नया खुलासा हुआ है। पुलिस को आरोपियों ने बताया कि ढाबे पर खाना खाने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे, इसीलिए उन्होंने लूट की प्लानिंग की। देवांशु के विरोध करने पर अल्लू ने उसे चाकू मारा। अल्लू 15 दिन पहले ही जेल से छूटा था। उसने बताया कि चाकू इतना छोटा था कि समझ नहीं आया कि इससे सामने वाले की मौत हो जाएगी।

रीवा के युवक की इंदौर में हत्या : तीन आरोपी किन्नर हुए गिरिफ्तार, सोशल मीडिया पर नामी लोगों से दोस्ती, पब और होटलों में जाने की शौकीन किन्नर : देखिये तस्वीरें

आरोपी कल्लू उर्फ शाहरुख और किन्नर जोया आजाद नगर थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं। अलीम राजेंद्र नगर इलाके का है। तीनों ड्रग्स लेने के आदी हैं। उन्होंने बताया कि नशा करने के बाद लसूड़िया इलाके में राजा राम भोजनालय पर खाना खाने निकलते थे। देर रात 11 बजे इंदौर के सभी होटल और ढाबे बंद हो जाते हैं। इस वजह से वह शहर के बाहर किसी ढाबे पर खाना खाने जा रहे थे। खाना खाने के लिए पैसे नहीं थे, इसीलिए प्लानिंग की थी कि मोबाइल लूटकर खाना खा लेंगे।

देवांशु मिश्रा हत्याकांड : चार माह पहले हुई थी शादी, चाहने वालों में दौड़ी शोक की लहर, घर में पसरा मातम, माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल ....

इसी प्लानिंग के तहत तीनों रात 12 बजे शहर के कई इलाकों से होते हुए सत्य साईं चौराहे से जैसे ही आगे की ओर बढ़े, तभी पंचमुखी हनुमान मंदिर के पास सतीश और देवांशु को आते हुए देखा। दोनों जैसे ही सत्य साईं चौराहे के करीब आए तो देखा कि देवांशु के गले में सोने की चेन है। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने तय किया था कि चेन झपट कर तुरंत भाग लेंगे। बाइपास पर कहीं जाकर खाना खाएंगे। देवांशु और सतीश नशे में थे। चौराहे से पीछा करते हुए पहले बाइक को देवांशु की एक्टिवा के करीब लाए, फिर गाड़ी पर पीछे बैठी किन्नर सतीश को आंख मारी, इससे दोनों वहीं रुक गए।

प्लान के मुताबिक, पहले जोया ने दोनों को बातों में उलझाया। जैसे ही आरोपियों ने देवांशु के गले से चेन झपटी, देवांशु ने विरोध किया। अल्लू ने दोनों के बीच लड़ाई होते देख चाकू निकालकर देवांशु पर वार कर दिए। इसके बाद वे तीनों फरार हो गए।

पार्टी कर लौट रहे थे देवांशु और सतीश

बुधवार देर रात देवांशु, सतीश और एक अन्य दोस्त के साथ बाइपास के एक होटल में पार्टी करने पहुंचा। रात 1 बजे स्कीम नंबर-78 में तीनों कार से दोस्त के घर पहुंचे। यहां से सतीश और देवांशु एक्टिवा से अपने घर के लिए रवाना हुए थे। हमले के बाद सतीश ने देवांशु को जख्मी हालत में उसके घर पर लाकर सुला दिया था। उसकी पीठ पर चार और सीने पर चाकू से वार के घाव थे। दूसरे दिन गुरुवार सुबह वह बिस्तर पर मृत मिला था।

VIDEO बनाने वाले ने नहीं लगाया 100 नम्बर पर फोन

घटना के दौरान VIDEO बनाने वाले शख्स ने यदि पुलिस को सूचना दे दी होती, तो शायद देवांशु बच जाता। VIDEO में साफ दिखाई दे रहा है कि कई गाड़ी चालक घटना के बाद भी नहीं रुके। देर रात पुलिस की गश्त को लेकर भी सवाल खड़े होते हैं।

Powered by Blogger.