Lucknow-Agra Express पर रीवा के चार लोग हुए हादसे के शिकार; चाचा-भतीजे सहित मामा ने मौके में ही तोडा दम


उत्तरप्रदेश के लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे में उन्नाव जिला अंतर्गत एमपी के रीवा जिले के चार लोग हादसे का शिकार हो गए। इस भीषण दुर्घटना में चाचा-भतीजे सहित मामा ने मौके में ही दम तोड़ दिया है। वहीं कार चला रहा युवक गंभीर है। सूचना के बाद पहुंची हाईवे पुलिस ने मृतकों के शव अस्पताल की मर्चुरी में रखवाते हुए परिजनों से अवगत करा दिया है। वहीं गंभीर रूप से घायल युवक को लखनउ के ट्रॉमा सेंटर में दाखिल कराया है।

लापता युवक का दुधमनिया पहाड़ में नरकंकाल मिलने से हड़कंप : 80 हड्डियां बिखरी पड़ी मिली, 3 km दूर पैंट व आधार कार्ड भी मिला

मिली जानकारी के मुताबिक शहर के बिछिया निवासी शिवम त्रिपाठी (30) का चयन एमबीबीएस की पढ़ाई में हो गया था। ऐसे में शिवम को नोएडा स्थित कॉलेज में एडमीशन दिलाने के लिए चाचा बृजेश त्रिपाठी (45), मामा अजय पाण्डेय (46) निवासी महाजन टोला और मौसेरे भाई आशुतोष शुक्ला निवासी संजय नगर गुरूवार की शाम रीवा से निकले थे। लेकिन शुक्रवार की सुबह 6 बजे रीवा पासिंग कार लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे में उन्नाव जिले के बेहटा-मुजावर थाना अंतर्गत जोगीकोट के समींप खड़े ट्रेलर में जा घुसी थी।

ऑपरेशन मुस्कान : रीवा पुलिस ने 3 नाबालिग किशोरियों को महाराष्ट्र के पुणे से किया बरामद

यूपी पुलिस के मुताबिक दर्दनाक हादसे में मेडिकल में प्रवेश के लिए नोएडा जा रहे छात्र सहित उसके चाचा और मामा की मौके पर मौत हो गई। जबकि कार चला रहे मौसेरे भाई की हालत गंभीर बनी हुई है। जिसको यूपी पुलिस की मदद से लखनउ के अस्पताल में दाखिल कराया गया है। बताते हैं कि कार आशुतोष शुक्ला चला रहे थे। चर्चा है कि उन्नाव में हादसे से पहले कार अनियंत्रित हो गई थी। जिससे खड़े ट्रेलर से जा टकराई। जिसमें शिवम त्रिपाठी, बृजेश त्रिपाठी और अजय पाण्डेय ने जान गवां दी।

5 फरवरी को शव पहुंचने की चर्चा

एक परिवार में तीन लोगों की मौत से रीवा में मातम पसरा हुआ है। सग संबंधियों की मानें तो 5 फरवरी को शाम तक शव पहुंच जाएगा। लेकिन अंतिम संस्कार आदि की प्रक्रिया 6 फरवरी को होगी।

Powered by Blogger.