छतरपुर : 16 साल की नाबालिग बेटी ने खुद को किया आग के हवाले, जानिए वजह


छतरपुर में एक नाबालिग द्वारा खुद को आग लगाने और इलाज कराने के दौरान 3 दिन बाद अब उसकी मौत हो गई। छतरपुर के गठेवरा गांव का है। जहां के रहने वाले दौलत सिंह की 16 साल की कक्षा 9 में पढ़ने वाली नाबालिग बेटी गुड्डन राजा ने अपने ही घर में खुद पर मिट्टी के तेल डालकर आग लगा ली थी। जिसकी आज इलाज के दौरान दिन बाद मौत हो गई।

मामा के घर होली मनाने आई 7 साल की बच्ची के साथ चचेरे भाई ने रेपकर घोंटा गला, फिर शव को बिना कपड़ों के झाड़ियों में फेंका

घटना की वजह मोबाइल

घायल छात्रा और परिजनों की मानें तो घटना की मुख्य वजह 2 मोबाइल बताए जा रहे हैं। जो उसके घर में चार्ज हो रहे थे। जिन्हें कि उसके भाई ने देख लिया था और बहन से छीनकर अपने पास रख लिए। भाई के जाने के बाद बहन ने मोबाइल चुपचाप भाई के कमरे से निकाल कर वापस कर दिए। जिसे लेकर भारी बवाल मच गया। यह वारदात हो गई थी।

Russia ने Ukraine पर दागी की हाइपरसॉनिक मिसाइल : रूस कर सकता है परमाणु हमला : अमेरिका

खुद ही लगाई आग

घायल गुड्डन उर्फ पलक ने बताया था कि उसने आग खुद ही लगाई। आग लगाने की वजह मोबाइल बताया था। जो पड़ोस की रहने वाली एक अन्य लड़की के थे। जिन्हें वह अपने घर में चार्ज कर रही थी। जिसके लिए वह खुद की गलती मान रही थी। किसी को दोषी न मानते हुए खुद को दोषी ठहरा रही थी। जो कह रही थी कि मुझसे गलती हो गई। किसी और को मत फंसाओ आग मैंने ही लगाई है।

How to become Rich Fast : हर रोज 20 रुपये की सेविंग, और बन सकते हैं करोड़पति : जानिए यह शानदार फॉर्मूला

मामला चाहे जो भी पर इतना तो तय है कि आग लगाने की वजह दो मोबाइल बने हैं। जिसके चलते आज उसकी मौत हो गई है। वहीं, सिविल लाइन पुलिस और जांच अधिकारी किशोर पटेल ने बताया कि मामले में मार्ग कायम कर लिया। पंचनामा PM कराकर शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। मामले में जांच चल रही है। जांच उपरांत पब्यानोंके आधार पर विधिसंवत कार्रवाई की जाएगी।

Powered by Blogger.