REWA : कार्डियोलॉजी विभाग का अनोखा ऑपरेशन : स्पेशलिटी हॉस्पिटल में नए उपचार से डॉक्टर ने बचाई मरीज की जान

रीवा शहर के श्याम शाह मेडिकल कॉलेज से संबद्ध सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में एक मरीज की जान को बचाने के लिए कार्डियोलॉजी विभाग ने अनोखा ऑपरेशन किया है। सहायक प्राध्यापक डॉ. एसके त्रिपाठी ने बताया कि कार्डियोलॉजी विभाग ने पहली बार इम्प्लांटेबल कार्डियोवर्टर डिफिब्रिलेटर (ICD) मरीज रामकिशोर साकेत निवासी मऊगंज का इम्प्लांट किया।

पिता के सामने पुत्री का अपहरण : शादी तोड़ने और थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने से नाराज युवक ने दोस्तों के साथ मिलकर की वारदात

चिकित्सक ने दावा किया कि रामकिशोर के हार्ट की पंपिंग बहुत कम थी।उसकी धड़कन बार-बार असामान्य हो रही थी। जिसके कारण अचानक मृत्यु का खतरा मड़रा रहा था। ऐसे में ICD मशीन इम्प्लांट की। जो हृदय की धड़कन कम होने या बहुत ज्यादा होने पर सामान्य स्थिति में लाती है। जिससे अचानक होने वाली मृत्यु का खतरा पूरी तरह से टल जाता है।

होली में एक्शन मूड पर पुलिस : शांति व्यवस्था बनाये रखने शहर में पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च, हुड़दंग रोकने के लिए एक सैकड़ा स्थानों पर लगेंगे फिक्स

इस टीम ने किया जटिल ऑपरेशन

बता दें कि अभी तक ICD मशीन इम्प्लांट की सुविधा सिर्फ दिल्ली, नागपुर, मुंबई और हैदराबाद आदि महानगरों में थी। लेकिन पहली बार विंध्य के सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में डॉ. एसके त्रिपाठी सहायक प्राध्यापक द्वारा जटिल ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन करने वाली टीम में कैथलैब टेक्नीशियन जय नारायण मिश्रा, सत्यम शर्मा, सुमन, मनीष और इन्द्रभान मांझी सहित स्टाफ नर्स ने अहम सहभागिता निभाई है।

Powered by Blogger.