सीधी पुलिस को बड़ी सफलता : 65 घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद मानव तस्करों के चंगुल से किशोरी को छुड़ाया, हरियाणा और UP से किया गिरफ्तार


सीधी जिले के बहरी से लापता हुई किशोरी के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने 3 हजार किलोमीटर की दूरी और 65 घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद मानव तस्करों के चंगुल से किशोरी को मुक्त तो करा लिया है। साथ की इस अपराध में शामिल महिला जमीला खान को यमुना नगर (हरियाणा) और बसंत चमार को सहारनपुर (उत्तर प्रदेश) से हिरासत में ले लिया है।

MP WEATHER UPDATE : लू की चपेट में प्रदेश का आधा जिला, रीवा समेत इन सरकारी-प्राइवेट स्कूलों की टाइमिंग बदली

काम दिलाने के बहाने करते थे लड़कियों की तस्करी

किशोरी ने बताया कि जमीला अच्छा पैसों वाला काम दिलाने के बहाने से सीधी से उत्तर प्रदेश ले गई। उसने अपने साथी आरोपियों के माध्यम से उत्तर प्रदेश निवासी बसंत चमार को 70 हजार रुपए में बेच दिया। बसंत उसे अपनी पत्नी के रूप में घर में बंद कर रखता था और किसी से बात नहीं करने देता था। वह पीड़िता से लगातार दुष्कर्म करता और भागने पर जान से मार देने की धमकी देता। जिसे अब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

CM शिवराज ने की बड़ी घोषणा ; अब सेकेंड ईयर में पढाई जाएगी भगवद गीता

मानव तस्करी में ये लोग थे शामिल

मानव तस्कर सरगना को काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस गिरोह में महिला आरोपी जमीला उर्फ फातिमा पति नवाब खान (40) निवासी हरियाणा, बसंत चमार पिता पृथ्वी (33) निवासी उत्तर प्रदेश शामिल है।

MP की 10 बड़ी खबरें : तेज रफ्तार बस ने स्कूटी सवार प्रॉपर्टी डीलर को कुचला तो चरित्र शंका के शक में पत्नी की गर्दन तोड़कर हत्या

अभी और भी होंगी गिरफ्तारी

बहरी थाना प्रभारी ने जानकारी देते हुए बताया कि सीधी जिले में अभी और भी गिरफ्तारी होंगी, क्योंकि लगातार मानव की तस्करी हो रही है। जिस पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। पुलिस ने अब सरगना को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिनमें नामों की संख्या बढ़ रही है। अभी तक इनमें 8 नाम और भी जोड़े गए हैं, जिनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

Powered by Blogger.