REWA : शॉपिंग कंपलेक्स की खबर सुनते ही संजय त्रिपाठी को लगा जोर का झटका, करोड़ों की बिल्डिंग मिनटों में स्वाहा ...


( ग्राउंड एमपी 17 ऋतुराज द्विवेदी की रिपोर्ट )  । इस वक्त रीवा जिले से बड़ी खबर निकल कर आ रही है जहां सर्किट हाउस रेप कांड में कथित बाबा का सहयोग करने के आरोप में अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित संजय त्रिपाठी व उनके भांजे अंशुल मिश्रा को भोपाल से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करने के बाद रीवा केंद्रीय जेल भेज दिया गया है।

सर्किट हाउस रेप कांड : कमरा नंबर 4 के बाद अब कमरा नंबर 2 बना हुआ हैं चर्चा का विषय, कमरा नं 2 का बड़ा खुलासा, जानिए क्या है मामला

आपको बता दें कि पूर्व में संजय त्रिपाठी को अल्टीमेटम दिया गया था कि अपने हिसाब से सरकारी भूमि के कब्जे पर जो काम्प्लेक्स बना हुआ है 2 से 3 दिन के अंदर खुद हटा ले नहीं तो  प्रशासन अपनी कार्रवाई करेगा वही रीवा जिले में 30 मार्च को शिवराज सिंह चौहान रीवा दौरे पर पहुंचे थे जहां भरे मंच में जनता को संबोधित करते व कलेक्टर एसपी एवं IG को बुलाकर बहन बेटी से दुष्कर्म करने वाले आरोपियों के मकान और दुकानों को जमींदोज करने का सख्त से सख्त निर्देश दिया था जिसके बाद निर्देश मिलते ही निगम अमला समेत सारा पुलिस दलबल एकजुट होकर ताबड़तोड़ कार्रवाई पर जुट  गया है।

बाहुबली संजय त्रिपाठी के निर्माणाधीन कॉम्प्लेक्स पर चला प्रशासन का बुलडोज़र, प्रशासन, निगम अमला समेत भारी पुलिस बल और ब्लैक कमांडो मौजूद

आपको बता दें कि यह कार्यवाही सुबह से ही जा रही है जहां पड़रा मोहल्ले स्थित रेलवे मोड ओवर ब्रिज के बगल से यह शॉपिंग कंपलेक्स बना हुआ था जहां शॉपिंग कंपलेक्स संजय त्रिपाठी के पुत्र आकाश त्रिपाठी के नाम से रजिस्टर था आपको बता दें कि शॉपिंग कंपलेक्स नक्शे के आधार पर नहीं बनाया गया था साथ ही शासकीय भूमि में अतिक्रमण करके शॉपिंग मॉल का निर्माण कार्य लगातार जारी था जहां सीएम शिवराज के निर्देश पर जिला प्रशासन व निगम अमले ने सख्ती दिखाते हुए सुबह मौके पर पहुंचकर निर्माणाधीन शॉपिंग कंपलेक्स को डायनामाइट लगाई कर दो बुलडोज़र की मदद से काम्प्लेक्स को जमींदोज करने का सिलसिला जारी है।

राज निवास रेप कांड : अब तक 5 लोग गिरफ्तार, मेडिकल के लिए जा रहे संजय अचानक मीडिया को चीखते हुए कहा कि मुझे फंसाया जा रहा...

वही आपको बता दें कि सीताराम महंत का सहयोग करने में संजय त्रिपाठी और अंशुल मिश्रा का नाम सामने आया है जहां घटना को अंजाम देने के बाद संजय त्रिपाठी अपने दुआरी स्थित फार्म हाउस में रात को आरोपी को रखा था एवं सुबह अपनी फॉर्चूनर गाड़ी से बाईपास भेज कर आरोपी को फरार करवा दिया था। वही संजय त्रिपाठी और अंशुल मिश्रा के नाम सामने आते ही 24 घंटे के अंदर भोपाल से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया। अब तक सर्किट हाउस रेप कांड में पांच आरोपी न्यायालय से केन्द्रीय में पहुंच चुके हैं. सभी तारों को मिलाकर आगे की कार्रवाई की जा रही है एवं लगातार आरोपियों पर बुलडोजर चलाने का सिलसिला भी जारी है। 

मामा भांजे गिरफ्तार : संजय त्रिपाठी और अंशुल मिश्रा भोपाल से गिरफ्तार; फरार करने व संरक्षण देने का लगा आरोप, फॉरचुनर कार भी जप्त

कार्यवाही में यह रहे शामिल

आपको बता दें कि जिला प्रशासन द्वारा इस बड़ी कार्यवाही में एसडीएम अनुराग तिवारी तहसीलदार यतीश शुक्ला नगर निगम के एसके चतुर्वेदी, रामचरण तिवारी सहित अतिक्रमण दस्ता का स्टाफ और पुलिस बल के साथ ब्लैक कमांडो और सिविल लाइन थाना प्रभारी हीतेन्द्रनाथ शर्मा नवस्ता थाना प्रभारी अंकिता मिश्रा सीएसपी मनोज वर्मा सीएसपी सच्चिदानंद समेत भारी पुलिस बल मौके पर मौजूद रहा।

Powered by Blogger.