लुटेरी दुल्हन से सावधान : पहले भरोसा जीता, फिर रैकी कर चाय में नशीला पदार्थ देकर जेवर और नकदी लेकर हुई फरार

मंदसौर में लुटेरी दुल्हन चाय में नशीला पदार्थ देकर घर में रखे जेवर और नकदी लेकर फरार हो गई। नशीले पदाथ के कारण तबीयत बिगड़ने पर पीड़ित परिवार की दो महिलाओं का मंदसौर के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। शहर कोतवाली टीआई अमित सोनी ने बताया कि राम टेकरी के सत्यम विहार कॉलोनी के रहने वाले 30 वर्षीय प्रवीण पिता श्यामलाल माहेश्वरी के साथ घटना हुई है।

पत्नी ने की पति से बेवफाई : सुसाइड नोट में लिखा, जानू ऐसा किसी के साथ कभी मत करना... कहकर लगा ली फांसी

परिवार प्रवीण के लिए लड़की तलाश रहा था। इस दौरान रतलाम की परिचित मंगला देवी ने बताया कि आरती नामक होशंगाबाद की एक लड़की उनकी नजर में है। हालांकि शादी की तैयारियों के लिए उन्हें दो लाख रुपए देने होंगे। इस पर परिवार ने मंगला देवी को दो लाख रुपए दे दिए। आर्य समाज से शादी करना तय हुआ तो पिछले शनिवार को लुटेरी दुल्हन आरती और भोपाल निवासी अर्जुन प्रजापति, पूजा समेत 5 लोग प्रवीण के घर आ गए। यहां 27 अप्रैल की तारीख शादी के लिए फिक्स हो गई। लुटेरी दुल्हन आरती यहीं पर रुक गई। दो दिन रुककर उसने सभी का भरोसा जीत लिया। हालांकि वह यहां रुककर रैकी कर रही थी।

Bharti Airtel ने एक बार फिर से दिया ग्राहकों को जोरदार झटका

मंगलवार को जब परिवार के सदस्य काम पर चले गए तो शाम के समय उसने होने वाली सास विष्णु माहेश्वरी और जेठानी प्रियंका माहेश्वरी को चाय बनाकर पिलाई। चाय पीने के कुछ देर बाद दोनों बेहोश हो गईं। इसी समय अचानक ससुर श्यामलाल घर पहुंच गए। यह देख आरती ने तत्काल नाटक किया और होने वाले ससुर से कहा कि वह ऑटो लेकर आती है।

MP के सभी जिलों के लिए अलर्ट जारी : कोरोना की चौथी लहर का तेजी से बढ़ रहा खतरा

उनकी हालत बिगड़ती देख ससुर ने परिवार के अन्य लोगों को कॉल किया और दोनों महिलाओं को अस्पताल लेकर पहुंचे। हालांकि आरती के फिर नहीं लौटने और नकदी, जेवर गायब होने पर पुलिस को सूचना दी। शहर कोतवाली पुलिस ने लुटेरी दुल्हन आरती, मध्यस्थता करवाने वाली महिला मंगला देवी, भोपाल निवासी अर्जुन और पूजा के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।

Powered by Blogger.