आनलाइन हुई सगाई : अब बिना दहेज और सिर्फ 11 बरातियों की उपस्थिति में होगी MBA युवती की शादी

अपनी शादी को यादगार बनाने के लिए हर कोई नए तरीके से सब कुछ करना चाहता है। युवा खासकर जब वे किसी अच्छे प्रोफेशन्स में हो तो शादी को लेकर काफी उत्सुक रहते हैं। जिससे कि उनकी शादी समाज के लिए एक मिसाल बने और यह हर किसी को याद रहे। वहीं इससे उलट जिले के भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष चौधरी प्रताप ने अपने बेटे की शादी को यादगार बनाने के लिए बड़ा फैसला किया है। उनके इस फैसले का स्वागत खाप पंचायतों ने भी किया है।

Tesla कारों के उच्च गुणवत्ता के लिए अदार पूनवाला ने Elon Musk को भारत में निवेश करने की दी सलाह

उन्होंने अपने बेटे अभिनव सिंह की शादी बिना दहेज के और मात्र 11 बरातियों की उपस्थिति में करने का फैसला किया है। गत रविवार को उन्होंने बेटे की आनलाइन सगाई करवाई। अब आगामी 12 मई को बगैर दान-दहेज के शादी होगी। बराती भी मात्र 11 होंगे। चौधरी प्रताप के इस निर्णय की चारों ओर प्रशंसा की जा रही है। चौधरी प्रताप गुर्जर बताते हैं कि उनका बेटा अभिनव सिंह, दिल्ली हाईकोर्ट में अधिवक्ता है। अभिनव का रिश्ता उर्मिला सिंह पुत्री जयराम निवासी भीलवाड़ा (राजस्थान), वर्तमान निवासी मालपुरा, जनपद मुंडास (गुजरात) के साथ हुआ है। उर्मिला एमबीबीएस हैं। मेडिकल आफिसर के पद से त्यागपत्र दिया है।

MPTET परीक्षा में बड़ी धांधली : 10 लाख कैंडिडेट्स का सवाल हमारा क्या कसूर? जांच में खुलासा; घर बैठे हाल हो गए प्रश्न

बकौल प्रताप कोरोना संक्रमण की आशंका को देखते हुए और पूर्व में दिए खाप पंचायतों का फैसला मानते हुए बेटे की शादी सादगी और बगैर दहेज के की जा रही है। रविवार को आनलाइन सगाई की रस्म हुई। 12 मई को शादी होगी, सिर्फ 11 बराती गुजरात जाएंगे। इस बारे में चौधरी प्रताप के बेटे अभिनव का कहना है कि वे समाज को एक संदेश देना चाहते हैं। जिससे कि समाज में लोग दहेज रहित शादी के लिए प्रेरित हो सकेंं।

Powered by Blogger.