MP : गुना में तीन पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या : काले हिरण को मारकर ले जा रहे बदमाशों से हुई थी मुठभेड़


MP NEWS : गुना में हुई तीन पुलिसकर्मियों की मौत से मध्यप्रदेश में हड़कंप मच गया है वहीं नेता प्रतिपक्ष गृह मंत्री को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए आपको बता दें कि गुना में यह बड़ी घटना हुई है जिस पर तीन पुलिसकर्मियों की मौके पर मौत हो गई है आपको बता दें कि तीनों पुलिसकर्मियों को अपराधियों से मुठभेड़ में गोली मारी गई है जिस पर मौके पर इन तीनों की मौत हो गई है वही नेता प्रतिपक्ष ने यह मुद्दा उठाते हुए बताया है कि प्रदेश की कानून व्यवस्था दिन पर दिन चौपट होती जा रही है और अपराधियों के हौसले दिन प्रतिदिन बुलंद होते जा रहे हैं वहीं इस घटना से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुख जाहिर किया है और यह भी कहा है कि अपराधी चाहे जो भी हो उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी ऐसी कार्रवाई करेंगे कि जो नाजिर बनेगी अपराधियों को बक्सा नहीं जाएगा हमारी प्रदेश की पुलिस की सुरक्षा को लेकर एक बार फिर बड़े सवाल खड़े हो गए हैं। 


गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा बोले

तीन पुलिसकर्मियों की घटना से बेहद दुख हूं और ऐसी कार्यवाही करूंगा कि जोना जी बनेगी हमारे प्रदेश के तीन जांबाज पुलिस अफसर मारे गए हैं अपराधियों को छोड़ा नहीं जाएगा फिर चाहे वह जो भी हो पुलिस से नहीं बस सकते हैं उन्होंने सख्त से सख्त कठोर कार्यवाही के निर्देश भी दिए हैं।

Madhuri Dixit को इस हॉट और बोल्ड सीन ने रातों रात बना दिया स्टार

भारत में काले हिरण आमतौर पर राजस्थान, पंजाब, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में पाए जाते हैं। भारतीय संस्कृति में भी काले हिरण का खास स्थान रहा है। सिंधु घाटी सभ्यता में ये भोजन का स्रोत रहा है और धोलावीरा और मेह्रगढ़ जैसी जगह भी इसकी हड्डियों के अवशेष मिले हैं। 16वीं से 19वीं सदी के बीच कायम रही मुगल सल्तनत में ब्लैक बक (काले हिरण) की कई छोटी पेंटिंग मिलती हैं। 

OMG : इन भद्दे से लाखों की कीमत वाले जूतों को देख उड़ जाएंगे आपके भी होश ; पढ़िए ऐसा क्या है खास...

राजस्थन में बिश्नोई समुदाय इन्हें पूजते हैं। आंध्र प्रदेश ने इन्हें स्टेट एनिमल का दर्जा दिया है। संस्कृत में इन हिरण का जिक्र कृष्ण मृग के रूप में मिलता है। हिंदू प्राचीन ग्रंथों के मुताबिक ब्लैक बक भगवान कृष्ण का रथ खींचता नजर आता है। काले हिरण को वायु, सोम और चंद्र का वाहन भी माना जाता है। राजस्थान में करणी माता को काले हिरण का संरक्षक माना जाता है।

रोज करीब 200 मिलीलीटर अपना यूरिन पीता है ये शख्स : बोला मैंने 10 साल कम की अपनी उम्र, डॉक्टर हैरान

ब्लैक बक नर का वजन आमतौर पर 34-45 किलोग्राम होता है और कंधे पर उसकी ऊंचाई 74-88 सेंटीमीटर होती है। मादा का वजन 31-39 किलोग्राम होता और ऊंचाई नर से जरा कम होती है। नर ब्लैक बक रंग भी बदलते हैं। मानसून के अंत तक नर हिरणों का रंग काला दिखता है, लेकिन सर्दियों में ये रंग हल्का पड़ने लगता है और अप्रैल की शुरुआत तक एक बार फिर भूरा हो जाता है।

Powered by Blogger.