गुना हत्याकांड : शहीदों के परिवार को मिलेंगे 1-1 करोड़ ; एक्शन के लिए पुलिस फ्री हैंड, IG को तत्काल प्रभाव से हटाया

इस वक्त आप को बड़ी खबर से रूबरू करा रहे हैं जहां गुना में 3 पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी गई है जहां पर राजकुमार जाटव के हाथ में गोली लगने के बाद भी उन्होंने आरोपियों पर कई राउंड फायरिंग की। आपको बता दें कि काले हिरण का शिकार करना गैर कानूनी जुर्म है जिस पर सलमान खान सहित सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू,नीलम, दुष्यंत पर भी शिकार के आरोप लगे थे जिन्हें अदालत ने सलमान खान को छोड़ बाकी सभी को बरी कर दिया था। 

छतरपुर में शादी से एक दिन पहले दुल्हन ने की खुदखुशी तो भोपाल में युवती की हत्या कर फेंकी लाश

इस घटना के बाद कई विपक्ष पार्टी ने यह भी कहा कि गृह मंत्री को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।  जब घटना हो जाती है तब शिवराज सरकार को होश आता है इस घटना पर कमलनाथ ने भी वार करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में अपराधियों के हौसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं जिस पर कानून व्यवस्था पर कई बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं, आखिरकार शिवराज सरकार होते ही यह व्यवस्था इतनी लाचार क्यों होती जा रही है। कमलनाथ ने यह कहा कि दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो और भविष्य में इस तरह की घटना को अंजाम देने से पहले आरोपियों की रूह आपने चाहिए। 

CM की मौत पर शवराज बोले 

हमारे पुलिस के मित्रों ने शिकारियों का मुकाबला करते हुए शहादत दी है।इस घटना में दोषी अपराधियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई होगी जो इतिहास में उदाहरण बनेगी। अपराधियों की पहचान हो गई है। घटना की पूरी जांच हो रही है।

घटना में शहादत देने वाले तीनों पुलिस के साथी SI श्री राजकुमार जाटव,आरक्षक श्री नीरज भार्गव,आरक्षक श्री संतराम की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी।इन्होंने कर्तव्य की बलिवेदी पर अपने जीवन को न्यौछावर किया है। उन्हें शहीद का दर्जा देकर 1-1 करोड़ रु की सम्मान निधि परिवार को दी जाएगी।

परिवार के एक सदस्य को शासकीय सेवा में लिया जाएगा। पूरे सम्मान के साथ शहीद पुलिसकर्मियों का अंतिम  संस्कार किया जाएगा। घटना के बाद पहुंचने में देरी करने पर ग्वालियर आईजी को तत्काल हटाने का फैसला किया है. 

गुना में तीन पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या : काले हिरण को मारकर ले जा रहे बदमाशों से हुई थी मुठभेड़

ये पुलिसकर्मी हुए शहीद

आपको बता दें कि इस घटना में सब इंस्पेक्टर राज कुमार जाटव आरक्षक नीरज भार्गव एवं आरक्षक संतराम ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था शिकारियों के पास से पांच हिरन और एक मोड़ के अवशेष को पुलिस ने जप्त किया है। 

तीनों का यहां होगा अंतिम संस्कार

आपको बता दें कि 3 शहीद पुलिसकर्मियों के अंतिम संस्कार अलग-अलग जगह होने हैं जहां एसआई राजकुमार जाटों का अंतिम संस्कार अशोकनगर में वही आरक्षक संतराम का श्योपुर में जबकि आरक्षक राजीव भार्गव का अंतिम संस्कार गुना में होगा जिसमें जिले के प्रभारी मंत्री भी शामिल होंगे। 

सीएम के एक्शन बाद आईजी को हटाया

आपको बता दें कि प्रदेश में तीन पुलिसकर्मियों की गोली लगने से हत्या हो गई है जिस पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तत्काल एक्शन लेते हुए ग्वालियर के अजी अनिल शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है जहां पुलिस कर्मियों के परिवार को एक-एक करोड़ के मुआवजे का ऐलान किया गया है। सीएम शिवराज ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी की पहचान हो गई है जिस पर तत्काल पुलिस पोस्ट भेजी गई है जल्दी पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

अपडेट

आपको बता दे क्या राघोगढ़ के बिदोरिया गांव के निकले पुलिस टीम पर हमला करने वाले, एक शिकारी को मार गिराया वहीं आरोपियों पर कुछ देर में शुरू हो सकती है बड़ी कार्यवाही। आपको बता दें कि इस बड़ी घटना से तत्काल ग्वालियर आईजी अनिल शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है।

देश में काले हिरण शिकार का सलमान खान का मामला सबसे ज्यादा खबरों में रहा। आपको हम काली हिरण के बारे में बताने जा रहे हैं। 

काले हिरण से संबंधित कुछ जनरल जानकारी।

भारत में काले हिरण राजस्थान, पंजाब, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात में पाए जाते हैं। राजस्थान में बिश्नोई समाज इन्हें पूछता है। आंध्र प्रदेश स्टेट एनिमल का दर्जा दिया है। 

हिंदू प्राचीन ग्रंथों में काला हिरण भगवान कृष्ण का रथ खींचता नजर आता है। इन्हें वायु, सोम,चंद्र, का वाहन माना जाता है। करणी माता को इनका संरक्षक माना जाता है। 

नर का वजन 34-35 किलोग्राम होता है और कंधे पर उसकी ऊंचाई 74-88 सेंटीमीटर होती है। मादा 31 से 39 किलोग्राम वजन होती है और ऊंचाई नर से कम होती है। 

सिंधु घाटी सभ्यता में यह भोजन का स्रोत रहा है और धोलावीरा और में मेहगढ़ जैसी जगह भी इसकी हड्डियों के अवशेष मिले हैं। मुगल सल्तनत में ब्लैक बक की पेस्टिंग से मिलती हैं।

नए रंग भी बदलते हैं मानसून के अंत तक नर हिरणों का रंग काला दिखता है, लेकिन सर्दियों में यह रंग हल्के पड़ने लगता है। अप्रैल की शुरुआत तक पूरा हो जाता है। 

1998 में सलमान खान पर काले हिरण के शिकार के आरोप लगे थे। सलमान जोधपुर में 'हम साथ साथ हैं' की शूटिंग कर रहे थे। बिश्नोई समाज ने किस कर आया था। 

यह आमतौर पर घास चढ़ते हैं, लेकिन थोड़ी- बहुत हरियाली वाले अर्ध- रेगिस्तानी इलाकों में भी पाए जाते हैं। ऐसा अनुमान है कि 200 साल पहले इनकी आबादी 40 लाख थी। 

सलमान के साथ सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे,तब्बू,नीलम, दुष्यंत पर भी शिकार के आरोप लगे थे। अदालत ने सलमान को छोड़ बाकी सभी को बरी कर दिया था।

Powered by Blogger.