Honey trape case में ट्रायल शुरू : जिला कोर्ट में पेश हुए सभी आरोपी, रूपा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी


प्रदेश के चर्चित हनी ट्रेप मामले में हाई कोर्ट द्वारा लगी रोक हटाने के बाद शुक्रवार को जिला कोर्ट में हनी ट्रेप के सभी आरोपी हुए कोर्ट के समक्ष पेश हुए। आरोपी मीडिया के कैमरों से बचते हुए जिला आए। सभी ने अपने चेहरे पर मास्क लगा लिया।

इंदौर में 19 साल की नवविवाहिता से गैंगरेप : पति के दोस्तों ने पत्नी के साथ जबरजस्ती घर में घुसकर कपड़े फाड़े, फिर देखत ही देखते ....

भोपाल से सुबह श्वेता स्वप्निल जैन के साथ बरखा सोनी अपने पति के साथ पहुंची। कोर्ट में अपने बैंक खातों और लॉकर को खुलवाने के लिए आवेदन दिया। मामले में अगली सुनवाई 24 जून को होना है।

पत्नी का आरोप, मेरा पति नपुंसक है : झूठ बोलकर करवा दी शादी, दो साल तक संबंध नहीं बनाए, दहेज़ के लिए करते थे मारपीट

हनी ट्रेप मामले में सभी आरोपी जमानत पर जेल से बाहर आ चुके हैं। इस मामले में श्वेता विजय जैन, श्वेता स्वप्निल जैन, बरखा सोनी, मोनिका, आरती दयाल सहित अभिषेक ठाकुर को आरोपी बनाया गया था। घटना में पुलिस द्वारा बनाए गए मुख्य आरोपी श्वेता पति विजय जैन द्वारा इंदौर हाई कोर्ट में साक्ष्य प्राप्त करने के लिए एक आवेदन लगाया गया था। लेकिन संबंधित पक्षकारों ने आपत्ति ली थी। मामले में छतरपुर की आरोपी रूपा के खिलाफ जिला कोर्ट ने आज गिरफतारी वारंट भी जारी किया है। रूपा को इसी केस में पहले गिरफ्तार किया गया था, लेकिन जमानत पर छूटने के बाद वह कोर्ट में पेश नहीं हुई।

रेपिस्ट रिश्तेदार : नर्सिंग स्टूडेंट से शादी का वादा कर आरोपी ने बनाए संबंध, वीडियो बनाकर होने वाले पति को भेजें

27 जून को इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की कॉपी दी जाएगी

मामले को लेकर अधिवक्ता यावर खान ने बताया कि 27 जून को सभी आरोपियों को सभी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की कॉपी दी जाएगी। हनी ट्रैप प्रकरण में एसआईटी द्वारा जो सीडी, पेनड्राइव, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स जब्त किए गए थे। उनकी एफएसएल जांच कराई गई थी। एफएसएल जांच होने के बाद पुलिस ने आरोपियों के वकीलों को इसकी जांच की सीडी देने से इनकार किया था। जिला न्यायधीश एट्रोसिटी एक्ट रेणुका कंचन की कोर्ट ने यह आदेश दिए थे कि जब्त CD व जांच रिपोर्ट की एक प्रति आरोपी के वकीलों को दी जाए।

ऐसी धोखेबाज दुल्हन से बचके : दलित लड़की ने ब्राह्मण बनकर की शादी,अब 3 लाख समेत गहने लेकर फरार

यह है हनीट्रैप मामला

17 सितंबर 2019 को इंदौर नगर निगम के सिटी इंजीनियर हरभजन सिंह ने पलासिया थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। रिपोर्ट में हरभजन सिंह ने बताया था कि उन्हें 29 साल की आरती दयाल और उसकी साथी महिलाएं ब्लैकमेल कर रही हैं। इंजीनियर हरभजन सिंह की 3 करोड़ रुपए मांगने की शिकायत के बाद भोपाल और इंदौर पुलिस ने कार्रवाई कर ब्लैकमेलिंग करने वाली पांच महिलाओं श्वेता स्वप्निल जैन, श्वेता विजय जैन, आरती दयाल, बरखा सोनी और मोनिका यादव को गिरफ्तार किया था।

Powered by Blogger.