MP : शासकीय अधिवक्ता अक्षित सहगल पर जानलेवा हमले का मामला : आज न्यायालयीन कार्य से विरत रहेंगे अधिवक्ता

 

MP : शासकीय अधिवक्ता अक्षित सहगल पर जानलेवा हमले का मामला : आज न्यायालयीन कार्य से विरत रहेंगे अधिवक्ता

शासकीय अधिवक्ता अक्षित सहगल पर जानलेवा हमले का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अधिवक्ता संघों में इस घटना को लेकर उबाल है। 7 सितंबर को अधिवक्ता इस घटना के विरोध में न्यायालयीन कार्य से विरत रहेंगे। अधिवक्ता संगठनों ने एसपी को चेतावनी दी है कि वे जल्द हमलावरों को गिरफ्तार करें।

कोरोना इफेक्ट : ठीक होने के बाद अब हेयर फॉल, फ्लैश बैक में जाने, शुगर बढ़ने, सूखी खांसी और वेट लॉस जैसी परेशानियां

जबलपुर म.प्र उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ, एडवोकेटस बार एसोएसिशन और जबलपुर जिला न्यायालय अधिवक्ता संघ की संयुक्त सभा में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया है अधिवक्ताओं पर लगातार हमले बढ़े हैं। बावजूद पुलिस का रवैया उदासीन होता जा रहा है। 5 सितंबर की रात में जिस तरह से बरेला में शासकीय अधिवक्ता अक्षित सहगल पर जानलेवा वार किया गया, वो बर्दाश्त से बाहर है।

प्रेमी की शर्त पर युवती का फैसला : प्यार के लिए पति को छोड़ने वाली महिला को प्रेमी ने दिए दो ऑप्शन : मुझे चुन ले या बच्चों को : फिर ...

अधिवक्ता जिंदगी मौत से संघर्ष कर रहे हमलावर खुलेआम घूम रहे

हमले में घायल अक्षित सहगल के सिर पर गंभीर चोटें आई हैं और वे जबलपुर हॉस्पिटल में आईसीयू में जिंदगी और गौत की लड़ाई लड़ रहे है। जबकि हमलावर खुलेआम घूम रहे हैं। इससे पहले अधिवक्ता आलोक जैन के साथ मारपीट हुई, अधिवक्ता सौरव भूषण श्रीवास्तव के घर चोरी हुई, तिलवारा में अधिवक्ता को ही लूट लिया गया। अधिवक्ताओं पर लगातार हमले के विरोध में 7 सितंबर 2021 को पूरे दिन न्यायालयीन कार्य से विरत रहकर विरोध दर्ज कराने का निर्णय लिया है।

MP : शासकीय अधिवक्ता अक्षित सहगल पर जानलेवा हमले का मामला : आज न्यायालयीन कार्य से विरत रहेंगे अधिवक्ता

                          जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष सैनी ने पुलिस पर साधा निशाना।

जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष सैनी ने कहा कि जबलपुर सहित एमपी के कई जिलो में पिछले 8 माह में लगातार अधिवक्ताओं के ऊपर हमले हो रहे हैं। इसे अधिवक्ताओं ने गंभीरता से लिया है। अधिवक्ताओं ने जिला न्यायालय परिसर में जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष आर.के. सिंह सैनी की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित कर निर्णय लिया है कि अधिवक्ताओं पर हमले करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read