MP SCHOOL REOPEN : सितंबर में कक्षा पहली से 8वीं तक के खुल सकते है स्कूल : शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत

 

MP SCHOOL REOPEN : सितंबर में कक्षा पहली से 8वीं तक के खुल सकते है स्कूल : शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत

MP में सितंबर में कक्षा पहली से 8वीं तक के स्कूल खुल सकते हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार ने इसके संकेत दिए हैं। बुधवार को प्राइवेट स्कूल संचालकों से मुलाकात में शिक्षा मंत्री ने यह आश्वासन दिया। स्कूल संचालकों ने नौवीं से 12वीं तक की कक्षाएं रोज लगाने की मांग भी की। अभी 9वीं-10वीं की क्लास सप्ताह में 1 दिन और 11वीं-12वीं की 2-2 दिन लगाई जा रही है।

10वीं के छात्र के खिलाफ 16 साल की लड़की ने दर्ज कराया दुष्कर्म का मामला : पहले लड़की को घर में अकेला पाकर अश्लील फिल्म दिखाई फिर जबरन किया रेप

प्राइवेट स्कूलों की संस्था एसोसिएशन ऑफ अन एडेड प्राइवेट स्कूल्स मध्यप्रदेश के सचिव बाबू थॉमस, उपाध्यक्ष विनय राज मोदी समेत अशोक कुमार, उपाध्यक्ष चेतन्य सक्सेना ने शिक्षा मंत्री परमार से मुलाकात कर अपनी विभिन्न मांगों के संबंध में ज्ञापन सौंपा। मांगों को लेकर मंत्री परमार ने आश्वासन दिया कि जल्द ही कक्षा पहली से आठवीं के स्कूल खोले जाएंगे। साथ ही 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं नियमित लगाई जाएंगी ताकि बच्चों की शिक्षा में आए अवरोध दूर किया जा सके।

MP POLICE TRANSFER : गृह विभाग ने जारी की कार्यवाहक निरीक्षक, निरीक्षकों और उप निरीक्षकों के ट्रांसफर की लिस्ट : देखे पूरी सूची

अभी इस शेड्यूल से लग रही कक्षाएं

9वीं : शनिवार

10वीं : बुधवार

11वीं : मंगलवार व शुक्रवार

12वीं : सोमवार व गुरुवार

एक महीने पहले खोले गए स्कूल

मध्यप्रदेश में 26 जुलाई से 11वीं एवं 12वीं की कक्षाएं लगाई जा रही हैं। इनके लिए सप्ताह में 2-2 दिन निर्धारित किए गए हैं। वहीं 5 अगस्त से नौवीं और 10वीं की कक्षाएं भी शुरू की गई है। इन्हें सप्ताह में 1-1 दिन ही बुलाया जा रहा है। हालांकि, सरकार ने स्कूल 50% की उपस्थिति के साथ खोलने के आदेश दिए हैं।

इंस्टाग्राम पर दोस्ती कर 9वीं कक्षा की 15 वर्षीय छात्रा के साथ दो युवकों ने किया दुष्कर्म : ब्लैकमेल कर घर के सामने बगीचे में बुलाकर करते थे दरिंदगी

संक्रमण कम इसलिए खोली जाएं छोटी कक्षाएं

प्राइवेट स्कूल संचालकों ने शत-प्रतिशत उपस्थिति के साथ कक्षा 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं संचालित करने की मांग उठाई है। वहीं छोटी कक्षाएं भी शुरू करने की मांग की है। संचालकों का कहना है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण धीरे-धीरे कम हो रहा है। अब पहली से आठवीं तक के स्कूल भी खोल दिए जाए, ताकि बच्चों की पढ़ाई बेहतर तरीके से चल सके।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read