REWA : रीवा में नशीली कफ सिरप के साथ युवकों को मिलाकर दिया जा रहा स्लो प्वाइजन : हार्ट व दिमाग को कर रही डैमेज

 

REWA : रीवा में नशीली कफ सिरप के साथ युवकों को मिलाकर दिया जा रहा स्लो प्वाइजन : हार्ट व दिमाग को कर रही डैमेज

रीवा. नशे के लिए सिपर पीने वालों को पता ही नहीं कि वह धामी जहर ले रहे हैं। नकली सिरप लीवर, हार्ट व दिमाग डैमेज कर रही थी, इसका सेवन करने वाले युवकों का लीवर, हार्ट व दिमाग पर इसका सबसे ज्यादा प्रभाव रहा होगा। धीरे-धीरे यह इन अंगों को कमजोर कर रही थी। इसके सेवन से युवक दिमागी रूप से विक्षिप्त हो सकते थे और लीवर व हार्ट खराब होने से उनकी मौत का भी खतरा बन सकता था। अधिक समय तक इसका सेवन करने वाले को अपनी जान से भी हांथ धोना पड सकता था। एक्सपर्ड के मुताबिक रीवा में पकड़े गए आरोपी जो सिरप तैयार कर रहे थे वह असली सिरप से ज्यादा खतरनाक थी।

छात्रों के लिए खुशखबरी : स्नातक के विद्यार्थियों को मिल नहीं 120 दिन की छुट्टी,उठाएं गर्मी का लुफ्त

नकली नशीली सिरप बनाकर बिक्री करने वाले आरोपियों की अब पुलिस कुंडली खंगालने में लग गई है। प्रारंभिक जांच में पुलिस के हांथ अहम जानकारियां लगी है। जिस कैमिकल को मिलाकर आरोपी नशीली सिरप तैयार कर रहे थे वह स्लो प्वाइजन था जो शरीर को काफी नुकसान पहुंचा रहा था। रायपुर कर्चुलियान पुलिस ने चोरगढी में दबिश देकर नकली नशीली सिरएप बनाने के गोरखंधंधे का पर्दाफाश किया था। पुलिस ने मौके से चार आरोपियों को गिरफ्तार किया था जिनसे पूछताछ में नकली नशीली सिरप बनाने वाले कारोबार का खुलासा हुआ है।

सिरमौर के उमरी गांव में बेटी की बारात आने से पहले गृहस्थी जलकर राख, 2 घंटे बाद भी नहीं पहुँचा दमकल

दरअसल आरोपी खतरनाक कैमिकल का इस्तमाल करके यह सिरप बनाया करते थे और उसको असली के साथ मिलाकर बेंच दिया करते थे। इसके लिए वे जगह-जगह से खाली शीशियों को भी एकत्र करते थे। उनको साफ करके फिर उसमें नकली सिरप भरकर बेंचते थे। लंबे समय से वे यह कारोबार कर रहे थे। हैरानी की बात तो यह है कि इस बात की किसी को भनक तक नहीं लग पाई थी और आरोपी आराम से नकली सिरप बनाकर उसकी बिक्री करते थे।

रीवा शहर में दहशत का पर्याय बने दो बदमाश अवैध पिस्टल और देसी कट्टे के साथ गिरफ्तार, सत्यम मोराई पर दर्ज है 8 मामले

एएसपी रीवा, शिवकुमार वर्मा, ने कहा कि अब आरोपियों के नेटवर्क का पता लगा रही है। साइबर कीमदद से उनके संपर्क में आए लोगों का पता लगाया जा रहा है। इस बात की आशंका जतार्ड जा नशीली सिरप बनाकर बिक्री करने वाले आरोपियों ने पूछताछ में जो जानकारियां दी है उसके आधार पर आगे जांच की जा रही है। आरोपियों के नेटवर्क में शामिल अन्य लोगों का पता लगाया जा रहा है। जो लोग उनसे नशीली सिरप खरीदते थे उनके संबंध में भी जानकारियां जुटाई जा रही है।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read