MP : रीवा के लोकेश 12 वर्ष के अंदर 23वीं रैंक हासिल कर ADPO से बने ADJ, पिता भी UP में रह चुके हैं जज

 
ADOP का ADJ के पद पर चयन
UP में पिता भी रह चुके हैं जज, बड़े भाई बिहार में CGM
रीवा जिले के त्योंथर न्यायालय में पदस्थ ADOP लोकेश मिश्रा (ADOP Lokesh Mishra) का यूपी में एडीजे के पद पर चयन हुआ है। मीडिया से बातचीत में लोकेश मिश्रा ने बताया कि इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) द्वारा उत्तर प्रदेश उच्च न्यायिक सेवा (UPHJS 2020) का भर्ती परिणाम सोमवार को घोषित किया गया है।
प्रथम प्रयास में उन्होंने 23वीं रैंक हासिल कर अतिरिक्त जिला जज (Additional District Judge) का पद हासिल किया है। बता दें कि एचजेएस (HJS) ​​​​​​की लिखित परीक्षा 25, 26 और 27 मार्च को आयोजित की गई थी। जबकि साक्षात्कार एक और दो अगस्त को हुए थे। रिजल्ट 12 सितंबर की रात 11.30 आया है।
प्रयागराज जिले के फूलपुर में जन्म
36 वर्षीय लोकेश मिश्रा यूपी प्रयागराज (UP Prayagraj) जिले के फूलपुर तहसील अंतर्गत तुलापुर गांव (Tulapur Village) के निवासी हैं। उनके पिता वरुण कुमार मिश्रा (Varun Kumar Mishra) उत्तर प्रदेश में जिला जज (District Judge) ​​​​के पद से रिटायर हुए हैं। वहीं बड़े भाई विकास मिश्रा (Vikas Mishra) बिहार राज्य के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) जिले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट है (judicial magistrate) ।
12 वर्ष के अंदर ADPO से बने एडीजे 
गौरतलब है कि लोकेश मिश्रा ने वर्ष 2010 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय (Allahabad University) से LLB की डिग्री हासिल की। वर्ष 2012 से मध्यप्रदेश के रीवा जिले में ADPO के पद पर चयनित किया गया। वर्तमान समय में त्योंथर न्यायालय (tythor court) पर ADOP के पद पर पदस्थ थे। दिन में ड्यूटी रात में पढ़ाई कर पहले प्रयास में ही अतिरिक्त जिला जज पद पर चयन हो गया।

Related Topics

From Around the Web

Latest News