ऑपरेशन मुस्कान : 4 साल बाद अपहरण का खुलासा, 70 हजार में महिला ने किशोरी को बेचा,दो आरोपी फरार

 
ऑपरेशन मुस्कान

मऊगंज पुलिस ने महिला को न्यायालय में किया पेश, दो अन्य आरोपियों की तलाश जारी

रीवा। एक किशोरी का अपहरण (Kidnapped) कर उसको बेंचने वाली महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में महिला ने अहम जानकारियां दी है जिसके आधार पर आग आगे जांच की जा रही है।

ALSO READ : एक्शन में रीवा SP ; बड़े पैमाने पर पुलिस विभाग में तबादला, देखे पूरी लिस्ट

मऊगंज थाने में दर्ज था मामला

मऊगंज से एक किशोरी का महिला ने अपहरण कर उसे अपने पति के साथ मिलकर दमोह में बेंच दिया था। चार साल बाद जब पीडि़ता वापस लौट कर आई तब घटना की सत्यता सामने आई थी। पीडि़ता का सीता साकेत निवासी घुरेहटा थाना मऊगंज बहला फुसलाकर पति के साथ अपहरण किया था जिसने बाद में उसे दमोह में विक्रम अहिरवार निवासी दमोह को सत्तर में हजार में बेंच दिया था। पुलिस ने महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया। घटना दिनांक को वह पीडि़ता को झांसा देकर उसे अपने साथ मऊगंज बाजार ले गई थी। वहां से गुलशेर के साथ उसे दमोह भिजवा दिया जहां आरोपी ने उसे बेंच दिया था।

ALSO READ : तीन अंतर्राज्यीय गांजा तस्कर गिरफ्तार : एक लाख रुपए का 14 किलो 500 ग्राम गांजा जब्त,किराये के रूम में रहकर बनाते थे प्लान

महिला को मिले थे 15 हजार

इसमें 15 हजार रुपए आरोपी महिला को मिले थे जबकि शेष रुपए गुलशेर ने रख लिये थे। पुलिस ने महिला केा न्यायालय में पेश किया जहां से उसको जेल भेज दिया गया। पीडि़ता को फिलहाल परिजनों के हवाले कर दिया गया है। इस मामले में अभी दो आरोपी फरार है जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। उनकी गिरफ्तारी के बाद ही पूरा मामला सामने आयेगा। थाना प्रभारी श्वेता मौर्य ने बताया कि पूरे मामले की जांच चल रही है। जांच में जो तथ्य सामने आयेंगे उस आधार पर आगे कार्रवाई की जायेगी।

ALSO READ : रीवा में अपराधी बेख़ौफ़ : मनगवां कस्बे में असामाजिक तत्वों ने स्टोरेंट में पेट्रोल डालकर लगाई आग 

70 हजार में बेंची गई किशोरी की तलाश में टीम राजस्थान रवाना

सात साल पहले 70 हजार में बेंची गई किशोरी की तलाश में पुलिस टीम राजस्थान रवाना हो गई है जो अब उसकी संभावित ठिकानों पर तलाश कर रही है। मऊगंज थाना क्षेत्र से किशोरी वर्ष 2015 में लापता हुई थी। पुलिस ने इस मामले में आधा दर्जन आरोपियों को गिरफ्तार किया था जिन्होंने किशोरी को सत्तर हजार रुपए में राजस्थान में बेंचे जाने की जानकारी दी थी। उक्त किशोरी को मिर्जापुर लाया गया था और यहां से आरोपी ने उसे राजस्थान में बेंचा था। वह आरोपी आज तक पुलिस के हांथ नहीं लगा है जिससे अपहृत किशोरी का पता नहीं चल पाया है। आपरेशन मुस्कान के तहत एक बार फिर पुलिस टीम उसकी तलाश में राजस्थान गई है।

Related Topics

From Around the Web

Latest News