REWA : 25 नवंबर से बजेंगी शहनाइयां ; अधिकांश मैरिज गार्डन, होटल व शादी हॉल पहले से बुक

 
image
रीवा, देवउठनी एकादशी करीब आ गई है. हालांकि इस बार एकादशी पर विवाह के मुहूर्त नहीं हैं और 25 नवंबर से ही शादियां शुरू होंगी लेकिन अधिकांश मैरिज गार्डन, होटल व शादी हॉल (Marriage Garden, Hotel & Wedding Hall) की पहले ही बुकिंग हो चुकी है. ऐसे में नए लोगों को शादियों के लिए गार्डन, होटल या हॉल (Garden, Hotel or Hall) की दिक्कत आ रही है.
हिंदू धर्म में कोई भी शुभ कार्य करने से पहले मुहूर्त देखा जाता है जिससे कार्यों में किसी भी तरह का कोई विघ्न न आए। देवशयनी एकादशी (Devshayani Ekadashi) से भगवान विष्णु चार माह के लिए योग निद्रा में चले जाते हैं। इसके बाद सभी शुभ व मांगलिक कार्य (good and auspicious work) बंद हो जाते हैं। भगवान विष्णु देवउठनी एकादशी के दिन योग निद्रा का त्याग करते हैं और विवाह आदि शुभ मांगलिक कार्य प्रारंभ हो जाते हैं लेकिन इस बार देवउठनी एकादशी से विवाह मुहूर्त के साथ अन्य शुभ कार्य शुरू नहीं होंगे। इसकी वजह एकादशी के दिन भी शुक्र ग्रह का अस्त रहना है। विवाह की शहनाई बजने के लिए लोगों को एकादशी के बाद 20 दिन तक इंतजार करना होगा। यानी मुहूर्त 25 नवंबर से शुरू होंगे।
दीपावली के बाद पहला त्योहार देवउठनी एकादशी का बेसब्री से इंतजार रहता है. इस दिन से सभी शुभ कार्यों पर चार माह से विराम लगा वह हट जाता है। पंडित रमाकांत तिवारी ने बताया कि 4 नवंबर शुक्रवार को देवउठनी एकादशी है परंतु इस बार इस दिन विवाह के शुभ मुहूर्त नहीं हैं। क्योंकि शुक्र तारा 30 सितंबर से अस्त चल रहा है जो 23 नवंबर को पश्चिम में उदय होगा। इसके बाद विवाह मुहूर्त हैं।
दिसंबर माह में अच्छे मुहूर्त केवल 4 दिन ही रहेंगे। इसके बाद लोगों को मकर संक्रांति तक इंतजार करना होगा। मुहूर्त कम होने से शहर के अधिकांश मैरिज गार्डन, होटल व शादी हॉल की बुकिंग लगभग 90 फीसदी तक हो चुकी है। देवउठनी एकादशी को अबूझ मुहूर्त माना जाता है, यही कारण है कि कई लोग विवाह मुहूर्त नहीं होने के बावजूद भी इस दिन शादियां कर लेते हैं।

Related Topics

From Around the Web

Latest News