REWA : चिटफंड कंपनियों के खिलाफ पुलिस ने कसा शिकंजा, रीवा के दो थानों में दर्ज हुए 6 से ज्यादा मामले

रीवा। चिटफंड कंपनियों के खिलाफ पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. पैसे को दोगुना करने का झांसा देकर लोगों से ठगी करने वालों की अब धरपकड़ पुलिस ने शुरू कर दी है. जानकारी के मुताबिक पुलिस शहर की ऐसी कई कंपनियों के खिलाफ जांच कर रही है, जिनके खिलाफ जल्द ही कार्रवाई हो सकती है.
चिटफंड कंपनियों के खिलाफ पुलिस ने कसा शिकंजापुलिस विभाग ने चिटफंड कंपनियों की ठगी का शिकार हुए लोगों की शिकायतों का निराकरण करने के लिए करीब 15 दिन पहले शिविर का आयोजन किया था, जिसमें खुद क्ष्क्र चंचल शेखर, क़्क्ष्क्र अनिल सिंह कुशवाह और च्घ् राकेश कुमार सिंह ने लोगों की शिकायतें सुनी थी.विभिन्न कंपनियों की ठगी का शिकार हुए लोगों की शिकायतें शिविर में आई थी. ज्यादातर कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज था और जिन कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई थी, उनके खिलाफ पुलिस ने अब कार्रवाई शुरू कर दी है. जानकारी के मुताबिक शहर के अमहिया थाने में पांच और विश्वविद्यालय थाने में एक मामला दर्ज हुआ है, जिनमें कई कंपनियां शामिल हैं. पुलिस अब आरोपियों की तलाश कर रही है. अधिकारियों ने जल्द ही इनकी गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं. फिलहाल करीब 12 कंपनियों के खिलाफ जांच चल रही है, जिन पर जल्द ही कार्रवाई की जा सकती है.
रीवा स्थित जॉन टॉवर में संचालित साईं प्रसाद प्रोपर्टीज कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. कंपनी ने रामजीत सिंह निवासी अर्जुन नगर की शिकायत पर कार्रवाई की है. कंपनी द्वारा रामजीत सिंह के करीब 50 हजार रुपए डकार लिए गए थे.ज्यादा ब्याज का लालच देकर कंपनी ने उनसे रुपए जमा करवाए थे और जब पैसा देने की बारी आई तो कंपनी लापता हो गई. वहीं जेव्हीजी इंडस्ट्रीज लिमिटेड जॉन टावर और जेव्हीजी लीज कंपनी के खिलाफ दो मामले दर्ज हुए हैं.
इसके साथ ही कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड कंपनी हेडगेवार नगर के खिलाफ भी मामला दर्ज हुआ है. थाने में आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है. इस कंपनी में पीड़ित ने पांच लाख रुपए जमा किए थे. इसके अलावा कई लोगों ने भी रुपए जमा किए थे, उन सभी का पैसा लेकर कंपनी लापता हो गई थी. जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है. वहीं विश्वविद्यालय थाने में भी पुलिस ने डीजीआर एंड लीजियर्स लिमिटेड बोदाबाग के खिलाफ मामला दर्ज किया है.


Powered by Blogger.