MP TOPPER : रीवा की ख़ुशी और कृष्ण कुमार की शिक्षा का पूरा खर्च उठाएगी सरकार : IAS बनाने का है सपना


रीवा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कृष्ण कुमार के जज्बे को सलाम करते हुए कहा कि अपनी जिद और जुनून से कृष्ण कुमार ने इतिहास रच दिया है। आपने पैरों से लिखकर 82 प्रतिशत अंक प्राप्त किये हैं। प्रतिदिन 10 किलोमीटर की यात्रा करके गरीब परिवार का यह होनहार छात्र नियमित रूप से स्कूल जाता रहा। अपनी लगन और मेहनत से इसने जो सफलता प्राप्त की है उसे विरले ही प्राप्त कर पाते हैं। इनकी पढ़ाई का पूरा खर्च सरकार उठाएगी।


मुख्यमंत्री ने कहा कि कमिश्नर रीवा छात्र कृष्ण कुमार केवट के स्वास्थ्य की जांच करा लें। इनके हाथों के उपचार तथा कृत्रिम हाथ लगाने के लिए पूरी व्यवस्था करें। इसके लिए भी पूरी राशि सरकार द्वारा दी जाएगी। कृष्ण कुमार जैसे बच्चों की सफलता पूरे प्रदेश ही नहीं देश के लिए गर्व की बात है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की मेरिट सूची में प्रथम स्थान बनाने वाली खुशी सिंह से संवाद करते हुए कहा कि अभावों के बीच जीवन बिताने वाली किसान परिवार की बेटी ने अपनी प्रतिभा और दृढ़ निश्चय से जो सफलता प्राप्त की है वह किसी चमत्कार से कम नहीं है। ऐसा चमत्कार प्रदेश का हर विद्यार्थी कर सकता है। इस बेटी ने आइएएस अधिकारी बनने का संकल्प लिया है। उसके जिद और संकल्प से उसका सपना जरूर पूरा होगा। उन्होंने कहा कि बेटी खुशी को शिक्षा तथा कोचिंग के लिए हर संभव सहायता दी जाएगी। उसकी पढाई में किसी तरह की बाधा नहीं आने दी जाएगी।


खुशी मुख्यमंत्री से बोली, मैं सुबह 4 बजे उठकर पढ़ाई करती हूं
मुख्यमंत्री से संवाद करते हुए खुशी ने कहा कि मैं सुबह 4 बजे उठकर पढाई करती थी। घर के कामों में मम्मी का हाथ बटाने के बाद मध्यप्रदेश सरकार द्वारा दी गई साईकिल से 5 किलोमीटर दूर स्कूल जाती थी। शिक्षकों तथा माता-पिता के प्रोत्साहन से मुझे मेरिट सूची में स्थान प्राप्त करने की सफलता मिली।


प्रतिभावन 497 विद्यार्थियों को 25-25 हजार प्रोत्साहन राशि
कलेक्ट्रेट के एनआइसी केन्द्र में आयोजित कार्यक्रम में रीवा जिले के बोर्ड की मेरिट सूची में स्थान बनाने वाले विद्यार्थियों प्रसून शुक्ला, आकाश मिश्रा, अर्पित द्विवेदी, सुखेन्द्र जायसवाल, प्राची सिंह , अमन चौरसिया , रोशनी शर्मा , अजय सिंह , ऋतिक कुमार तिवारी तथा क्षमा श्रीवास्तव को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। इन विद्यार्थियों के साथ ही 497 बच्चों के खाते में 25 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि जारी की गई है। कलेक्ट्रेट के एनआइसी केन्द्र में रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन, कलेक्टर डॉ.इलैयाराजा टी तथा जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़े ने टापर विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र एवं पुस्तकें प्रदान की।


कलेक्टर ने विद्यार्थियों को कैरियर मार्गदर्शन दिया
कार्यक्रम के बाद कलेक्टर ने इन विद्यार्थियों को उनके कैरियर के संबंध में मार्गदर्शन दिया। कार्यक्रम में जिला शिक्षा अधिकारी आरएन पटेल, डीपीसी सुदामा गुप्ता, सहायक संचालक पीएल मिश्रा उपस्थित रहे।
Powered by Blogger.