REWA : पाकिस्तानी लड़की से परेशान होकर रीवा के युवक ने की आत्महत्या : जानिए पूरा मामला

एमपी के रीवा जिले के बिछिया थाना क्षेत्र के कनौजी गांव में रहने वाले 22 वर्षीय युवक को पाकिस्तानी नंबर से आ रहे फोन ने आत्महत्या के लिए मजबूर कर दिया। युवक तीन दिन पूर्व घर में ही फांसी पर लटक कर इहलीला समाप्त कर लिया।

मास्क नहीं पहनने पर गृहमंत्री ने ट्वीट कर मांगी माफ़ी, कहा - मैं मास्क स्वयं पहनूंगा और लोगों को भी जागरूक करुँगा 

खुदकुशी से पहले युवक ने मरने की तैयारी का वीडियो बना कर उक्त नंबर पर सेंड किया है। पूरा मामला हनी ट्रैप जैसे ब्लैकमेलिंग से जुड़ा है। जिसकी निष्पक्ष और सटीक जांच की मांग परिजन कर रहे हैं। हैरानी इस बात की है कि बिछिया पुलिस ने इस गंभीर मामले की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को अब तक नहीं दिया है।

रीवा में कोरोना संक्रमण हुआ बेकाबू 1500 के पार हुए मरीज : कलेक्टर ने लागू की ये नई व्यवस्था

रीवा। कनौजी निवासी धीरेन्द्र पाण्डेय का 22 वर्षीय पुत्र विपुल उर्फ मृगेन्द्र पाण्डेय क्रिकेट खेलने का शौकीन था। वह दिल्ली में इसकी ट्रेनिंग भी ले रहा था। लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते हुए लॉक डाउन के बीच वह घर आ गया था। अप्रैल माह से वह घर पर ही था। परिजनों के मुताबिक विपुल अच्छाखास जीवन यापन कर रहा था। लेकिन पिछले कुछ दिनों से काफी परेशान रहता था। पूछने पर भी किसी को कुछ नहीं बताता था। इसी बीच 20 सितंबर की अल सुबह उसका शव कमरे में फांसी के फंदे पर लटकता मिला। घटना से घर वाले आवाक रह गए। उन्होंने सूचना बिछिया पुलिस को दी। पुलिस घटना में मर्ग कायम कर जांच कर रही है। इसी बीच परिजनों के सामने एक चौकाने वाला वाकया सामने आया। मृतक विपुल के मोबाइल को परिजनों ने जब खंगाला तो उसमें पाकिस्तान के सीरीज वाले नंबरों की कॉल लॉग पड़ी थी। व्हाट्सएप में भी उक्त नंबर से चैटिंग थी। इतना ही नहीं विपुल के द्वारा मरने से ठीक पहले उक्त नंबर पर एक वीडियो सेंड किया गया था, जिसमें आत्महत्या के लिए की गई तैयारी यानी फांसी का फंदा दिखाया गया। ऐसे में परिजनों को विश्वास हो गया कि युवक की मौत के पीछे पाकिस्तान का हाथ है। लिहाजा उन्होंने इस बात की जानकारी पुलिस को भी दी है। पुलिस मामले में जांच करने का दावा कर रही है।

कलेक्टर से सीधी-बात : दूसरे की जिंदगी खतरे में डालने वालों पर होगी कार्यवाही 

रीवा की एक लड़की संदिग्ध

परिजनों ने बताया कि बुधवार की सुबह एक युवती घर पहुंची थी। उसने खुद को विपुल की दोस्त बताया था। परिजनों से चर्चा के दौरान उक्त युवती ने यह बताया था कि विपुल उसके भाई जैसे था। दोनों नर्सरी से 12वीं तक साथ में पढे हैं। इसलिए विपुल हर बात उससे शेयर करता था। युवती ने यह भी बताया कि विपुल के नंबर पर पिछले कई माह से पाकिस्तान से कॉल आ रहा था। उसे कोई लड़की ब्लैकमेल कर रही थी। लेकिन फोनकर्ता कौन है इसकी जानकारी उसे नहीं है।

प्रदेश में एक अक्टूबर से 30 नवंबर तक चलेंगी आनलाइन कक्षाएं : ऐसी होगी व्यवस्था 

घर के अन्य नंबरों पर भी आ रहे कॉल

इस संबंध में मृतक के पिता धीरेन्द्र ने मीडिया को बताया कि विपुल की मौत के बाद पाकिस्तान के नंबर से फोन आया था। इस दौरान विपुल का छोटा भाई बात किया था। फोनकर्ता कोई लड़की थी। जब उसने विपुल का फोन बंद कर पुलिस को सौंप दिया तो अब परिवार के अन्य सदस्यों के नंबर पर पाकिस्तान वाली सीरीज से फोन आ रहे हैं। इधर से जब कोई लेडीज फोन उठाती है तो सामने से युवक की आवाज आती है, जब कोई जेंस फोन उठाता है तो सामने वाला लड़की बन कर बात करता है।

48 घंटे की कड़ी मेहनत बाद सिलपरा नहर से बरामद किया युवक का शव 

ये मामला रीवा पुलिस के बस का नहीं है

ये कोई आत्महत्या नहीं है। ये ब्लैकमेलिंग का केस है वो भी इंटरनेशनल। लड़के ने कई बार अपने घर में लाखों की चोरी भी थी। पाकिस्तानी लड़की कई सालों से उसके पीछे पड़ी थी। रीवा की पुलिस तो आत्महत्या मान कर फुर्सत हो गई है। उन्हें ये नहीं पता कि करना क्या है कैसे करना है। ये मामला किसी भी लोकल पुलिस के बस की बात नहीं बल्कि। यह देश की सुरक्षा से जुड़ा मसला है। न जाने ऐसे कितने लड़कों को पाकिस्तान से कॉल आते होंगे और उनसे पैसे वसूले जाते होंगें। देखा जाए तो इंटरनेशनल केस होने के नाते यह मामला ग़्क्ष्ॠ को जाना चाहिए।


REWA NEWS MEDIA पढ़े ताजा ख़बरें, अभी Like करें और हमसे जुड़ें
Powered by Blogger.