REWA : कोरोना नियंत्रण के प्रावधानों का पालन करते हुए मनाये सभी त्यौहार : कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी



कलेक्ट्रेट के मोहनसभागर में जिला शांति समिति तथा जिला आपदा प्रबंधन समिति की संयुक्त बैठक आयोजित की गयी। बैठक में आगामी त्यौहारों के दौरान सुरक्षा प्रबंधों तथा कोरोना संक्रमण से बचाव के संबंध में शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के पालन के संबंध में चर्चा की गयी। बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि इस वर्ष कोरोना संकट के कारण परिस्थितियां अलग तरह की हैं। सभी त्यौहार पहले की जैसे मनाने की अनुमति नहीं होगी। कोरोना नियंत्रण के प्रावधानों का कठोरता से पालन करते हुए सभी त्यौहारा मनाये जायेंगे। सभी धर्मों तथा समुदायों के त्यौहारों के आयोजन के समय हमें आमजनता के जीवन की सुरक्षा पर भी पूरा ध्यान देना होगा। त्यौहारों के संबंध में भारत सरकार के गृह मंत्रालय तथा मध्यप्रदेश सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार जिला स्तर से व्यापक दिशा निर्देश जारी कर दिये गये हैं। इनका पालन करते हुए सभी त्यौहार मनाये जायेंगे।


बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले के हर व्यक्ति के जीवन की सुरक्षा आवश्यक है। आगामी नवरात्रि दुर्गा पूजा, दशहरा, दीपावली, ईद जैसे त्यौहारों में सार्वजनिक समारोह तथा कार्यक्रमों में बड़ी संख्या में लोग शामिल हो सकते हैं। इससे तेजी से कोरोना संक्रमण फैल सकता है। कलेक्टर ने आमजनता से अपील करते हुए कहा कि त्यौहारों के दौरान भीड़ में जाने से बचे, सार्वजनिक स्थल पर जाने पर मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें साथ ही पर्व और त्यौहार अपने घर परिवार के बीच मनाने का प्रयास करें। हम सब सुरक्षित रह कर  आगामी वर्ष और अधिक उल्लास के साथ त्यौहार मनायेंगे। शांति समिति के सभी सदस्यगण भी अपने परिवारजनों तथा आमजनता को घर पर ही त्यौहार मनाने की समझाइश दें।


बैठक में कलेक्टर ने कहा कि त्यौहारों के दौरान नगर निगम द्वारा साफ-सफाई, पेयजल तथा प्रकाश की व्यवस्था की जायेगी। नगर निगम के तथा पीडब्ल्यूडी के अधिकारी शहर के सड़कों के सुधार के लिए तत्काल प्रयास करें। सार्वजनिक समारोहों में 100 से अधिक व्यक्ति किसी भी स्थिति में शामिल नहीं होगे। त्यौहारों के दौरान भी सार्वजनिक स्थलों में हर व्यक्ति मास्क लगाये, दो गज की फिजिकल दूरी का पालन करें तथा नियमित अंतराल से साबुन अथवा सेनेटाइजर से हाथों को स्वच्छ करें। त्यौहारों में इनका पालन अनिवार्य है।


बैठक में पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह ने कहा कि दुर्गा प्रतिमा पर्याप्त खुले स्थान पर ही रखें। आयोजन समिति प्रतिमा रखने के लिए एसडीएम से लिखित अनुमति लें। प्रतिमा स्थलों में आयोजन समिति के सहयोग से पुलिस सुरक्षा के प्रबंध करेंगी। शासन के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए त्यौहार मनाये। ईद मिलादुनवी के जुलूस के संबंध में एसडीएम तथा आयोजकों के साथ बैठक करके निर्णय लिया जायेगा। दशहरें में भी चल समारोह की अनुमति नहीं दी गयी है। नाम मात्र की संख्या में प्रतिकात्मक जुलूस की अनुमति होगी।



बैठक में एडीएम श्रीमती इला तिवारी ने त्यौहारों के संबंध में जारी दिशा निर्देशों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दुर्गा प्रतिमा स्थापित करने के लिए संबंधित क्षेत्र के एसडीएम अनुमति देंगे। रामलीला तथा रावण दहन के कार्यक्रम खुले मैदान में होंगे इनमें 100 से अधिक व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति नहीं होगी। बैठक में दुकानों के खुलने के समय, नगर की साफ-सफाई, अपराधियों की धर पकड़, मास, मछली की दुकानें केवल निर्धारित स्थल पर लगाने तथा जिले के जल प्रपातों सुरक्षा प्रबंधों के संबंध में चर्चा की गयी। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एम.एल. गुप्ता ने कोरोना नियंत्रण के उपायों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले में प्रतिदिन 900 से अधिक कोरोना टेस्ट हो रहे हैं। अब तक 65 हजार से अधिक टेस्ट हो चुके हैं। जिले का रिकवरी रेट 85.75 तथा कोरोना से मृत्यु दर 1.32 है। जिले में 9 अक्टूबर तक 1957 व्यक्ति कोरोना संक्रमित हुये हैं इनमें से उपचार के दौरान 28 की मौत हो गयी। वर्तमान में 250 एक्टिव केस हैं उपचार के बाद 1679 व्यक्ति पूरी तरह से स्वस्थ्य हो चुके हैं। बैठक में सभी एसडीएम, संयुक्त कलेक्टर एके झा तथा शांति समिति के सभी सदस्य एवं विभिन्न सामाजिक तथा व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.