REWA : अतिक्रमण हटाने को लेकर मऊगंज SDM की कार्यवाही सवालों के घेरे में, तहसीलदार अनुराग त्रिपाठी की एक बार फिर सामने आई गुंडागर्दी

रीवा .मऊगंज।अतिक्रमण हटाने को लेकर मऊगंज अनुविभागीय दंडाधिकारी माला त्रिपाठी एवं तहसीलदार अनुराग त्रिपाठी की एक तरफा कार्यवाही संदेहपूर्ण नजर आए रही है।एक व्यक्ति की ऊपर प्रस्तावित कार्यवाही से सैकड़ों सवाल प्रशासनिक अमले पर खड़े हो रहे हैं।

मीडिया में प्रकाशित खबरों के बाद दुष्कर्म के आरोप को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने लिया संज्ञान : DIG स्तर के अधिकारी से जांच के निर्देश

उल्लेखनीय है कि मऊगंज नगर परिषद क्षेत्र में वर्तमान समय मे चारों ओर व्यापक रूप से अतिक्रमण किया गया है,एक ओर देश के प्रधानमंत्री बेरोजगार नौजवानों को स्वयं का व्यवसाय करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर जब युवाओं द्वारा स्वयं का कोई छोटा बड़ा व्यवसाय प्रारम्भ किया जाता है तो उन्हें हटाने की कार्यवाही प्रशासनिक अमले द्वारा की जाती है।

नहीं लग पा रही संक्रमण पर लगाम, नायब तहसीलदार और बैंक प्रबंधक समेत मिले 23 नए पॉजिटिव : आकड़ा पहुँचा 2336

नगर परिषद मऊगंज क्षेत्र में इस समय अतिक्रमण को लेकर प्रस्तावित कार्यवाही से नगर में तरह तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं।दरअसल मऊगंज एसडीएम माला त्रिपाठी द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी एवं तहसीलदार को विश्राम गृह के सामने से एक दुकान को हटाए जाने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं वहीं दूसरी ओर उसी दुकान से लगे अन्य अतिक्रमण को हटाने के लिए कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।एक व्यक्ति के अतिक्रमण हटाने को लेकर नगर परिषद के वार्ड क्रमांक 8 निवासी रामजस त्रिपाठी द्वारा शिकायत की गई है जबकि इनके द्वारा स्वयं जनपद कार्यालय की शासकीय भूमि में दो मंजिल का मकान एवं जनपद कार्यालय की शासकीय भूमि में दो तीन दुकानों का पक्का निर्माण करा लिया गया है जिसकी शिकायत भी कलेक्टर रीवा एवं सीएम हेल्पलाइन में की गई है लेकिन उस पर कार्यवाही न कर केवल एक व्यक्ति के अतिक्रमण हटाने को लेकर कार्यवाही प्रस्तावित की गई है।जिससे अब अनेकों सवाल एसडीएम की कार्यवाही पर खड़े हो रहे हैं।

कराधान घोटाले का मास्टर माइंड बाबू और वेंडर डेढ़ माह से फरार, जिम्मेदार प्रशासन बनी लापरवाह

तहसीलदार अनुराग त्रिपाठी की गुंडागर्दी एक बार फिर आई सामने

मऊगंज के तहसीलदार अनुराग त्रिपाठी की गुंडागर्दी आज एक बार फिर देखने को मिली है,अतिक्रमण हटाने गए अनुराग त्रिपाठी हाथापाई करने में उतारू हो गए उन्होंने न केवल धमकी दी बल्कि हाथापाई करने की भी कोशिश की।आपको बता दें कि ये वही तहसीलदार हैं जो अपने गांव के पटवारी को एक प्रकरण में अपने पद की धौस दिखाते हुए धमकी दे रहे थे जिसका कुछ समय पहले एक ऑडियो भी वायरल हो चुका है।

रीवा के APS विश्वविद्यालय में अफसरों ने बड़े पैमाने पर किया घपला : छात्रों का शुल्क हजम कर रोका परीक्षा परिणाम

प्रसासनिक अमले पर है राजनीतिक दबाब

एक व्यक्ति को ऊपर प्रस्तावित कार्यवाही से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि प्रशासनिक अमले पर व्यापक रूप से राजनैतिक दबाव है जिसकी वजह से एक तरफा कार्यवाही प्रस्तावित की गई है।आपको बता दें कि तत्कालीन एसडीएम संस्कृति जैन द्वारा अतिक्रमण हटाने को लेकर बड़े पैमाने पर कार्यवाही की गई थी लेकिन अब प्रसासनिक उदासीनता के चलते फिर से पूरे नगर में अतिक्रमण फैल चुका है जिसे अब प्रसासनिक अमला हटाने के लिए रिश्वत की तिजोरी समझ चुका है।


हमारी लेटेस्ट खबरों से अपडेट्स रहने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

FacebookInstagramGoogle News ,Twitter

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.