MP : सतना पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, डेढ़ लाख रुपये के इनामी डकैत गौरी यादव गैंग का सक्रिय सदस्य गिरफ्तार : बंदूक एवं कारतूस बरामद



सतना. स्थानीय पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने डेढ़ लाख रुपये के इनामी डकैत गौरी यादव गैंग के सक्रिय सदस्य रामजी उर्फ भइला यादव को गिरफ्तार कर लिया है। यादव पर पुलिस ने 5000 रुपये का ईनाम घोषित कर रखा था। गिरफ्तार यादव के पास से बंदूक एवं कारतूस बरामद किया गया है।


पुलिस अधीक्षक सतना धर्मवीर सिंह यादव के निर्देश पर चलाए जा रहे दस्यू उन्मूलन अभियान के तहत यह कामयाबी थाना प्रभारी मझगवां ओपी सिंह एवं बरौंधा पुलिस टीम ने हासिल की है। पुलिस ने रामजी उर्फ भइला यादव को ग्राम जिल्लहा जंगल की तलैया थाना मझगवां के पास से तब गिरफ्तार किया जब वह डकैत गौरी यादव गैंग के लिए बंदूक लेकर खाना पीना एवं दैनिक उपयोग की सामग्री ले जा रहा था।


इसका पर्दाफाश मंगलवार की दोपहर पुलिस ने मीडिया के सामने किया। एसपी धर्मवीर सिंह यादव ने बताया कि आरोपी के पास से एक 12 बोर की देशी बंदूक व कारतूस तथा खाने पीने की दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद की गई है। बदमाश पर थाना मझगवां में अपराध क्रमांक 111/20 धारा 212, 216 आइपीसी 25/27 आर्म्स एक्ट, 11/13 एडी एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार कर न्यायालय पेश में किया गया है।


बताया गया कि आरोपी की रिश्तेदारी ग्राम बिलहरी में है औऱ डकैत गौरी यादव भी ग्राम बिलहरी का ही मूल निवासी है। ऐसे में आरोपी रामजी यादव वर्षों से डकैत गौरी यादव के संपर्क में है। आरोप है कि जंगल से लगे गांव पडमनिया, साडा, उंचामार, थरपहाड, मलगोसा आदि गांवों मे ठेकेदारों का काम, बीड़ी पत्ती, रोड निर्माण, जंगल विभागों के काम आदि चलने पर रामजी यादव, डकैत गौरी यादव को सूचना देता था। साथ ही अपने इलाके में बुलाकर उसको खाना पीना मुहैया कराता रहा ऐसे ठेकेदारों को डरा धमका कर काम बंद करवाने और काम चालू रखने के एवज में रंगदारी वसूल करता था। इसके खिलाफ मझगवां थाने में आधा दर्ज से ज्यादा मामलों में कई धाराओं के तहत मामले दर्ज हैं।


आरोप है कि रामजी यादव ने गौरी यादव गैंग के साथ मिलकर 21 मई 2020 को ग्राम जिल्लहा में रात करीबन 12.01 बजे सौखीलाल कोरी एवं अन्य दो लोग को पकड़ा और जंगल के तालाब के समीप ले जा कर उनकी बंदूकों की बट एवं लाठी डंडे से पिटाई की। साथ ही बीड़ी पत्ती तुडवाने एवं ठेकेदारी करने के एवज मे 50,000 रुपये की मांग की थी, जिस पर थाना मझगवां मे अपराध दर्ज कर पंजीबद्ध किया था। उस अपराध में आरोपी घटना के दिन से लापता रहा।


रामजी यादव की गिरफ्तारी में पुलिस अधीक्षक सतना धर्मवीर सिंह यादव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार जैन एवं एसडीओपी चित्रकूट अभिनव चौकसे की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही।
Powered by Blogger.