REWA : ऐसे होगा प्रत्याशियों का भाग्य तय, जानिए कौन पड़ेगा भारी : जिला अध्यक्ष पद के लिए पांच प्रत्याशी मैदान में



रीवा। युवा कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव के लिए वोटिंग के लिए प्रक्रिया शुक्रवार को आयोजित की गई। सुबह आठ बजे से सायं के चार बजे तक आठ घंटे तक वोटिंग के लिए अवसर दिया गया। जिसमें जिले भर से रजिस्टर्ड कार्यकर्ताओं ने वोट डाला। युवा कांग्रेस के रीवा जिले में 6028 सदस्य रजिस्टर्ड थे। इसमें कितने सदस्यों ने मतदान का उपयोग किया, इसकी घोषणा अभी न तो मोबाइल एप के माध्यम से की गई है और न ही संगठन की ओर से बताया गया।


युवा कांग्रेस में संगठनात्मक चुनाव के लिए करीब एक वर्ष पहले से प्रक्रिया प्रारंभ की गई थी। पूर्व में राज्यसभा चुनाव और प्रदेश के बदले राजनीतिक समीकरणों की वजह से इसे स्थगित कर दिया गया था। कोरोना संक्रमण की वजह से पार्टी ने आनलाइन मतदान कराने का निर्णय लिया था। जिसके चलते अलग-अलग जिलों के लिए अलग तारीख तय की गई है। दस से 12 दिसंबर तक तीन दिन वोटिंग की प्रक्रिया अपनाई जाएगी।


रीवा जिले में शुक्रवार को मतदान की प्रक्रिया संपन्न कराई गई। संगठन ने इसके लिए 'आइवायसी सेल्फ वोटिंग' एप जारी किया था। जिसके जरिए युवा कांग्रेस के रजिस्टर्ड सदस्यों ने आनलाइन वोटिंग कर अपने पसंदीदा प्रत्याशी का भाग्य तय किया। इस चुनाव में युवा कांग्रेस के हर सदस्य ने पांच वोट डाले जिसमें प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश महासचिव, जिला अध्यक्ष, जिला महासचिव और विधानसभा अध्यक्षों के लिए वोटिंग की।


इस चुनाव को लेकर पार्टी के बड़े नेताओं की भी सक्रियता नजर आई। सभी ने अपने समर्थकों से वोटिंग के लिए कहा था। बताया गया है कि जिला अध्यक्ष के लिए अनूप ङ्क्षसह चंदेल, अखिल त्रिपाठी और आलोक मिश्रा के बीच मुकाबला है। वहीं प्रदेश अध्यक्ष के लिए रीवा जिले से सबसे अधिक विक्रांत भूरिया के लिए वोटिंग हुई है।


फोटो मिलान में परेशान रहे मतदाता
युवा कांग्रेस पदाधिकारियों का चयन करने आनलाइन वोटिंग मोबाइल एप के माध्यम से हुई। सुबह आठ बजे से वोटिंग की प्रक्रिया प्रारंभ हुई जो सायं के ठीक चार बजे बंद हो गई। इसमें वोटर को पहले अपनी सेल्फी भेजनी थी, वोटर लिस्ट में दर्ज फोटो से मिलान होने के बाद ही वोट डालने का अवसर मिल पाया। कई युवा कांग्रेस के मतदाताओं ने बताया कि फोटो का मिलान एक बार में नहीं होने की वजह से कई बार सेल्फी फोटो अपलोड करनी पड़ी। वहीं कुछ सदस्यों ने यह भी दावा किया कि वोटरलिस्ट में जिनकी धुंधली फोटो लगी थी उनके स्थान पर दूसरे लोगों ने अपनी सेल्फी भेजी तो वह एक्सेप्ट हो गई और वोट डालने का आप्सन खुल गया।


रीवा जिले से 38 प्रत्याशी थे चुनाव मैदान में
रीवा जिले से युवा कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव के लिए मैदान में जिला एवं विधानसभा कमेटी के लिए 35 और प्रदेश महासचिव पद के लिए 3 प्रत्याशी थे। इस तरह से कुल 38 रीवा जिले के प्रत्याशियों के भाग्य तय करने के लिए वोटिंग हुई। जिला अध्यक्ष के लिए प्रमुख रूप से अनूप सिंह चंदेल, आशुतोष तिवारी, अखिल त्रिपाठी, आलोक मिश्रा, संगीता तिवारी। जिला महासचिव के लिए अनुज तिवारी, अतुल मिश्रा, अविनीश त्रिपाठी, प्रिंस कुमार मिश्रा, संजीव सिंह, सरोन जॉन, शिवा बक्शी। विधानसभा कमेटियों के लिए प्रत्याशी में देवतालाब से दिवाकर साकेत, लखन सिंह, नागेन्द्र कुमार तिवारी, बीरबहादुर सिंह। गुढ़ से मोहम्मद फारिश शारिक, प्रमोद पटेल। मनगवां से हर्ष तिवारी। मऊगंज से दीपेन्द्र दुवेही, मानस तिवारी, विकास कुमार मिश्रा। रीवा से अनुज पाण्डेय, जुबेर खान, कृष्णा शर्मा। सेमरिया से अंकित सिंह बघेल, जितेन्द्र सिंह, राजेन्द्र सेन, रामप्रसाद शुक्ला। सिरमौर से अंबरीश पाण्डेय, अमित सिंह, अमृतांश तिवारी, अनूप सिंह, भास्कर सिंह। त्योंथर से रवीन्द्र तिवारी आदि के साथ ही तीन प्रत्याशी प्रदेश महासचिव पद के लिए थे।
Powered by Blogger.