MP : कई जिलों में बर्ड फ्लू ने दी दस्तक, सैकड़ों की संख्या में हो रही कौओं की मौत : लोगों में दहशत

इंदौर। मध्यप्रदेश के कई जिलों में अब बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है...इस संक्रमण के कारण राजस्थान के झालावाड़, जयपुर और मध्यप्रदेश के इंदौर, खरगौन, आगर मालवा में बड़ी तादाद में कौओं की मौत हुई है। कौओं की मौत की इन घटनाओं को लेकर पशुपालन विभाग हरकत में आ गया है, विभाग की जांच टीम, जांच के लिए मौके पर पहुंच गई है। इंदौर में तीन दिन पहले 50 कौओं के शव मिले थे, इनके बर्ड फ्लू से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इसे लेकर संबंधित निकाय अलर्ट पर हैं।

CM शिवराज बोले पूरी तरह से नियंत्रण में है कोरोना की स्थितियां इसलिए कोविड- सेंटर किये बंद : अब वैक्सीनेशन की तैयारी

बर्ड फ्लू को लेकर पशुओं के स्वास्थ्य से जुड़े महकमे ने इलाके में अभियान शुरू किया है, जिसके तहत बर्ड फ्लू के लक्षण वाले पक्षियों की पहचान की जाएगी। वहीं इंदौर के कॉलेज कैंपस में करीब 50 कौओं के शव मिले थे। कुछ को जांच के लिए भेजा गया था। जांच रिपोर्ट में इनमें एच5एन8 वायरस (बर्ड फ्लू) से संक्रमण की पुष्टि हुई है। फिलहाल कॉलेज परिसर से पांच किलोमीटर के रेडियस में कोल्ड, कफ और बुखार से पीड़ित लोगों को ट्रैस करने के लिए सर्वे कराया जा रहा है। संदिग्ध मरीजों के स्वैब सैंपल्स लेकर जांच के लिए भेजे जाएंगे। मध्यप्रदेश सरकार के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बर्ड फ्लू की दस्तक पर कहा कि सरकार तैयार है...बर्ड फ्लू को लेकर सरकार पूरी निगरानी बरत रही है।

 नए साल पर प्रदेश भर में संचालित यात्री बसों का जल्द बढ़ सकता है किराया

इंदौर, खरगोन के बाद अब आगर मालवा क्षेत्र में भी लगातार हो रही कौओं की मौत के बाद दहशत का माहौल बन गया है। बर्ड फ्लू की आशंका के चलते वनविभाग ने जांच के लिए भोपाल लेब में सैंपल भेजा है, वहीं नगरपालिका द्वारा मृत कौओं को ढूढ़कर उन्हें जमीन में डंप किया जा रहा है। आगर मालवा जिला मुख्यालय पर साईं मंदिर क्षेत्र सहित विभिन्न इलाकों में बड़ी संख्या में कौओं के शव दिखने के बाद जागरूक लोगों द्वारा वनविभाग को सूचना दी गई, जिसके बाद आगर वनविभाग के डिप्टी रेंजर अशोक देवड़ा ने पशु चिकित्सक से 2 कौओं के शव को विधि पूर्वक पैक करवा कर जांच के लिए भोपाल लेब में भेज दिया है, जांच के बाद ही इस बात की पुष्टि हो पाएगी की कौओं की मौत बर्ड फ्लू से हुई है या नहीं, क्षेत्र में अब तक करीब 100 से अधिक कौओं की मौत हो चुकी है, वहीं कई कौवे मरणासन्न अवस्था मे भी मिले हैं।

महिला, लड़कियों और बच्चों की सुरक्षा के ल‍िए BHOPAL-INDORE समेत इन जिलों में होगा सेफ सिटी कार्यक्रम

वहीं खरगोन जिले के कसरावद में पिछले 3 दिन से लगातार कौओं की मौतें हो रही हैं। अचानक कौओं की मौत होने से लोग बर्ड फ्लू की आशंका व्यक्त कर रहे हैं। बीते तीन दिन में 20 से अधिक कौए एक ही स्थान पर दम तोड़ चुके हैं। वहीं अब बर्ड फ्लू की आशंका के चलते पशु चिकित्सा विभाग द्वारा सैंपल भेजकर जांच कराने की प्रक्रिया की जा रही है।

 दस महीने से बंद पड़े कॉलेज खुले : लैब में एक्सपेरीमेंट करते नज़र आए छात्र

खरगोन जिले के कसरावद में स्थित प्राचीन गांगलेश्वर महादेव मंदिर के पहाड़ी क्षेत्र पर बरगद के पेड़ से कौओं के गिरने और उनकी मौत होने की सूचना के चलते हड़कंप मचा हुआ है। पिछले 3 दिनों से लगातार 20 से अधिक कौओं के पेड़ से गिरने और मरने का सिलसिला लगातार चल रहा है। इससे आसपास के रहने वाले लोगों में भय का माहौल है। जिसके बाद लोगों ने बर्ड फ्लू की आशंका जताई है। कई लोग कौओं को बचाने के लिए पानी पिला रहे हैं और तरह-तरह के जतन भी कर रहे हैं।

इंदौर जिले के इस गांव में विधायक राजेन्द्र शुक्ला के योगदान से बनेगा भगवान परशुराम का भव्य मंदिर, 11 लाख रूपये का दिया अनुदान : पढ़िए

कसरावद स्थित पशु चिकित्सक डॉ ललित पाटीदार का कहना है कि इस घटना की जांच की जा रही है। वहीं इस घटना को लेकर उच्च अधिकारियों को भी अवगत करा दिया गया है। कौवों की मौत बर्ड फ्लू से हो रही या अन्य कारणों से हो रही है यह पीएम के बाद ही स्थिति स्प्ष्ट हो पाएगी। हम लगातार मौका मुआयना भी कर रहे हैं।

Powered by Blogger.