MP : ज्योतिरादित्य सिंधिया के काफिले में गिरकर घायल हुआ पुलिसकर्मी, काफिला रोककर मदद करने पहुंचे सिंधिया

      

भोपाल। राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के काफिले के आगे एक पुलिसकर्मी गिरकर घायल हो गया। घायल पुलिसकर्मी को देख सिंधिया ने काफिला रुकवाया और हालचाल पूछे। इस दौरान पुलिसकर्मी के सिर, हाथ और पैरों में चोटें आई थी। यह देख सिंधिया रुमाल निकालकर घायल पुलिसकर्मी के सिर पर खून रोकने की कोशिश करने लगे।

भाजपा कार्यालय में दो युवतियों से यौन शोषण का आरोप, पुस्तकालय के दरवाजे बंद : कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

उन्होंने पुलिसकर्मी के हाथ पर भी बह रहे खून को रोकने का प्रयास किया। इस दौरान सिंधिया ने कहा कि मुझे इनके सिर पर से बह रहे खून की चिंता हो रही थी। सिंधिया थोड़ी देर रुके और पुलिसकर्मी को अस्पताल जाने की सलाह दी और अपनी देखभाल करने को कहा।

महिलाओं के 'फटे जीन्स पहनने' वाले CM रावत के बयान का कृषि मंत्री कमल पटेल ने किया समर्थन, बोले- सबको मर्यादा में रहना चाहिए

राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शनिवार को राजधानी में थे। वे सुबह स्टेट हैंगर से श्यामला हिल्स स्थित अपने बंगले की ओर रवाना हो गए थे। तभी एक पुलिसकर्मी घायल होकर सड़क पर गिर गया। वो ड्यूटी पर था। तभी सिंधिया ने घाय पुलिसकर्मी को देख अपना काफिला रुकवा दिया और उसकी खैर-खबर लेने लगे। उन्होंने अपने रुमाल से उनका खून पोछा। उन्हें तत्काल अस्पताल पहुंचाने को भी अपने साथियों को कहा।

LOCKDOWN को लेकर CM शिवराज का बड़ा बयान, मैं आर्थिक गतिविधियां बंद...

वे कमलनाथ सरकार गिराए जाने के एक साल पूरे होने पर आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेने आए हैं। स्टेट हैंगर पर तुलसी राम सिलावट ने उनका स्वागत किया। सिंधिया सुबह साढ़े दस बजे श्यामला हिल्स स्थित अपने सरकारी आवास पर पहुंचे, जहां वे मुख्यमंत्री निवास के लिए रवाना हो गए।

संक्रमण को देखते एक्शन में आया प्रशासन : कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने बनाई गईं 43 टीमें, लोगों पर होगी सख्त कार्यवाही

कांग्रेस का लोकतंत्र सम्मान दिवस

इधर, कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिराए जाने के एक साल पूरे होने पर कांग्रेस लोकतंत्र सम्मान दिवस मना रही है। 20 मार्च को ही ठीक एक साल पहले कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। कमलनाथ की सरकार अल्पमत में आ गई थी। यह सरकार 15 माह तक ही चल पाई थी। कांग्रेस में रहते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बगावत कर 22 विधायकों के साथ कांग्रेस का दामन छोड़ दिया था और भाजपा ज्वाइन कर ली थी। इसके बाद शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार दोबारा सत्ता में आ गई थी। भाजपा इसे जीत बताते हुए जश्न भी मना रही है। मुख्यमंत्री चौहान ने इसी सिलसिले में पार्टी नेताओं को लंच पर आमंत्रित किया है।


ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या गूगल न्यूज़ या ट्विटर पर फॉलो करें. www.rewanewsmedia.com पर विस्तार से पढ़ें  मध्यप्रदेश  छत्तीसगढ़ और अन्य ताजा-तरीन खबरें

विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें  7694943182, 6262171534

Powered by Blogger.