REWA : कोरोना के बाद Black fungus का कहर, संक्रमितों में युवा ज्यादा : 12 का चल रहा इलाज, एक को किया भोपाल रेफर

  

रीवा। ब्लैक फंगस के कहर से अब शायद ही कोई जिला बचा हो। हर तरफ इस पोस्ट कोविड Post covid disease से लोग त्रस्त हैं। कहीं तो अस्पतालों में इलाज हो जा रहा पर कहीं वो भी नहीं हो पा रहा है। इतना ही नहीं इस जानलेवा बीमारी के उपचार के लिए संक्रमित अंग को काट कर निकालना पड़ रहा है। लेकिन कुछ ऐसे जिले भी हैं जहां ऑपरेशन के बाद इस्तेमाल होने वाली इंजेक्शन ही नहीं मिल रही। अब इस घातक बीमारी ने रीवा में भी दस्तक दे दी है।

केस वापस लेने की उठाई मांग/ भाजपा नेताओं के धरने पर कार्रवाई नहीं, छोटे व्यापारी और मौ​लवियों पर उल्लंघन का केस

जानकारी के मुताबिक जिले में ब्लैक फंगस के 12 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इसमें एक सतना जिले की महिला भी शामिल है। एक मरीज को इलाज के लिए भोपाल रेफर कर दिया गया है।

दो दिन का अलर्ट जारी : रीवा समेत कई हिस्सों में तेज हवा के साथ हुई बूंदाबांदी, 17 और 18 मई को लोगों से घरों से ना निकलने की सलाह

ब्लैक फंगस के इलाज में जुटे डॉक्टरों की माने तो लगातार मरीजों की देखरेख की जा रही है। इनका इलाज श्याम शाह मेडिकल कॉलेज रीवा के रिसर्च सेंटर संजय गांधी अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा किया जा रहा है। इन मरीजों के लिए अलग से एक यूनिट बनाने का आदेश शासन से भी जारी हो चुका है। उम्मीद है कि सेपरेट ब्लैक फंगस यूनिट जल्द काम करने लगेगी। फिलहाल अनुभवी डॉक्टरों द्वारा ऐसे रोगियों के स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है। स्वास्थ्य संबंधित समस्त जानकारी मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ मनोज इंदुलकर को दी जा रही है।

कॉलेज चौराहे पर स्वास्थ्य कार्यकर्ता ने पुलिस को सुनाई खरी-खोटी : स्कूटी पर न नंबर प्लेट न आईकार्ड : फिर बाद में लिखा माफीनामा ; वीडियो वायरल

ब्लैक फंगस यानी म्यूकारमायकोसिस कोरोना संक्रमण की सबसे खतरनाक स्टेज मानी जा रही है। इस ब्लैक फंगस के चलते आंखों की रोशनी का जाना सबसे डरावना परिणाम है। ये फंगस दिमाग-आंख की नसों में खून के बहाव को अवरुद्घ कर जानलेवा भी साबित हो रहा है। जिले में ब्लैक फंगस के जो मरीज सामने आए हैं, उनकी उम्र 35 से 50साल के बीच है।

अजीबोगरीब मामला / पति के साथ रात में बिस्तर पर सो रही महिला के साथ बलात्कार : फिर ..

"अब तक कुल 12 संदिग्ध मरीज मिले हैं कि जिसमें 9 की पुष्टि हो चुकी है तथा एक रेफर के सतना से रीवा लाया गया है जबकि दो की रिपोर्ट आना शेष है।"

डॉ मनोज इंदुलकर, डीन श्याम शाह मेडिकल कालेज, रीवा

Powered by Blogger.