सतना समीक्षा बैठक : कलेक्टर ने कहा- बारिश के कारण सुरक्षित रखा जाए खरीदा गया गेहूं, शीघ्र उठाव के निर्देश

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

सतना। जिलेभर में एक सप्ताह से अलग-अलग क्षेत्रों में हो रही बारिश से भींग रहे गेहूं को लेकर मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। यहां कलेक्टर अजय कटेसरिया ने अध्यक्षता करते हुए सभी एसडीएम, नान और संबंधित विभाग के ​अधिकारियों की बैठक ली। उपार्जन एवं पीडीएस संबंधी समस्याओं को लेकर सभी से सवाल जबाव किए। सबकी बातों को सुनने के बाद कलेक्टर ने कहा कि सबसे पहले बारिश के कारण खरीदा गया गेहूं सुरक्षित रखा जाए।

सतना शहर के बहुचर्चित "सिकंदर रेप केस की" फरियादी की रहस्यमयी मौत?

साथ ही परिवहनकर्ताओं खरीदी केन्द्रों से शीघ्र उठाव करें। बुधवार से सेकेंड एसएमएस भेजना बंद करे। वहीं उपार्जन केन्द्रों में वास्तविक किसानों की सूची के अनुसार ही गेहूं खरीदा जाये। ये सूची एसडीएम तैयार कराएं। साथ ही ध्यान रखें व्यापारी का गेहूं नहीं खरीदा जाए। बाहर से आने वाले गेहूं को बॉर्डर पर चेक किया जाए। अगर कहीं पर गड़बड़ी पाई जाए तो एफआईआर दर्ज कराएं। लेकिन अब गेहूं अगर भींगा तो संबंधित अधिकारी ही जिम्मेदार होंगे।

सतना में आकाशीय बिजली गिरने से 6 की मौत : बाणसागर डैम में मछली पकड़ने गए 7 लोग में चार की मौत

बता दें कि बीते कई दिनों से खरीदी केन्द्रों में जमकर अनियमितताएं हुई है। सोमवार को कोठी खरीदी केन्द्र में जहां व्यापारियों के गुर्गों ने किसानों के साथ मारपीट कर सनसनी फैला दी थी। वहीं कोटर खरीदी केन्द्र में यूपी का 673 बोरी गेहूं बिकने के​ लिए गया था।

सतना में अनोखी सजा : सड़कों पर बेवजह घूमने वालों से पुलिस लिखवा रही राम नाम का लेख, एसआई बोले- इससे सद्बुद्धि आएगी

जिसको तहसीलदार ने शिकायत के बाद थाने में खड़ा कराया है। वहीं दो दिन पहले पश्चिम बंगाल से आई वारदानों की रैक का सही वितरण नहीं किया गया। जबकि अपने अपने चहेतों को देकर आधे से ज्यादा बारदानें खरीदी केन्द्रों पर पहुंचे ही नहीं है। ऐसे में करोड़ों रूपए का गेहूं बारिश के कारण विभिन्न खरीदी केन्द्रों में भींग गया था। जिससे अन्नदाता की उम्मीदें ही खत्म हो गई।

Powered by Blogger.