MP : उपद्रवियों से डरकर छिप गई पुलिस / फिल्मी स्टाइल में बंदूक लहराते गुर्जर समाज के लोगों ने की दनादन फायरिंग : देखें वीडियो

मुरैना। गुर्जर व क्षत्रिय समुदायों के बीच हुए वर्ग संघर्ष ने थाना प्रभारियों को इधर से उधर बदलने पर मजबूर कर दिया। आज, पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डे ने आदेश निकालकर थाना प्रभारी कोतवाली, आरती चराटे को अजाक्स थाने में स्थानान्तरित कर दिया है। 

पूर्व मंत्री एवं रैगांव क्षेत्र के विधायक जुगुल किशोर बागरी का हार्ट अटैक से निधन : कुछ दिन पहले चिरायु अस्पताल में भर्ती 

पिछले दिनों हुए वर्ग संघर्ष में मुरैना पुलिस की काफी किरकिरी हुई है। जिस क्षेत्र में इस फायरिंग कांड को अंजाम दिया गया, वह कोतवाली थाने के अर्न्तगत आता है। कोतवाली थाना प्रभारी आरती चराटे द्वारा इस मामले को गंभीरता से न लेना, व समय रहते उचित कार्यवाही न करना ही, उनके स्थानान्तरण की मुख्य वजह बताई जा रही है। 

राहत भरी खबर / अमेरिका से सतना पहुँचे फिलिप्स कंपनी के 25 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

उनकी जगह अब पोरसा थाने में पदस्थ थाना प्रभारी अतुल सिंह को स्थानान्तरित किया गया है। इसी प्रकार कार्य निरीक्षक रामपाल सिंह जादौन को थाना अजाक्स से थाना प्रभारी पोरसा बनाया गया है। उपनरीक्षक सुखदेव सिंह चौहान को थाना नगरा से थाना सिविल लाइन स्थानान्तरित किया गया है। उपनरीक्षक धर्मन्द्र मालवीय को थाना पोरसा से स्थानान्तरित कर थाना प्रभारी नगरा बनाया गया है।

भोपाल से इन जगहों के लिए शुरू होने जा रही स्पेशल ट्रेन, पढ़ ले ये काम की खबर

यह है पूरा मामला

दरअसल इससे पहले सोशल मीडया पर गुर्जर समाज के लोगों द्वारा क्षत्रिय समाज की महिलाओं के विषय में अश्लील पोस्ट डाले गए थे। थाना कोतवाली पुलिस चाहती, तो तभी मामले को गंभीरता से लेते हुए गुर्जर समाज के कमेंट करने वाले लोगों को पकड़ लेती और उनके खिलाफ कार्रवाई कर देती। लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं किया केवल आईटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज करके खानापूर्ति कर दी। उसके दूसरे दिन शुक्रवार को इस घटना से आक्रोशित क्षत्रिय समाज के लोगों ने बदला लेने की नियत से गुर्जर समाज के एक लड़के को पकड़ कर सरेआम लाठी-डंडों से पीटा और उसकी बाइक को पत्थरों से तोड़कर पूरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया था। लगातार तीसरे दिन आज यह घटना फिर घटी है। जिसमें गुर्जर समाज के लोगों ने इस घटना को सरेआम अंजाम दिया।

शादी के पहले दुल्हन लापता, नाराज दूल्हे ने शादी कराने वाले बिचौलियों की मारपीट कर चलती गाड़ी से फेंक दिया

उपद्रवियों से डरकर छिप गई पुलिस

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि इस घटना में कई लोगों की जान जा सकती थी। कर्फ्यू के कारण अधिकांश लोग घरों के अन्दर थे इसलिए लोगों की जान बच गई। केवल सुनीता शर्मा पत्नी प्रदीप शर्मा उम्र 30 वर्ष की बाजार से दवाई लेकर घर लौट रही थी कि तभी लड़कों ने बाइक पर आकर तोड़फोड़ व फायरिंग की जिसके वह डर के मारे सड़क किनारे नीम के पेड़ नीचे छिप गई। उसी दौरान एक गोली पहले दीवार में बने शटर में लगी, उसके बाद में छिटककर महिला के सिर में लग गयी। जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गई। घायल महिला को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। आसपास के लोगों ने बताया कि वनखण्डी रोड पर फायरिंग को अंजाम दिया गया था। वहां पुलिस मौजूद थी लेकिन पुलिस ने रोकने की कोई कोशिश नहीं की। कुछ लोगों का कहना है कि पुलिस के कुछ सिपाही वहां मौजूद थे, जो कि लड़कों के तेवर देखकर डर गए और छिप गए थे।

उपद्रवियों की तलाश में जुटी पुलिस

जिस जगह घटना को अंजाम दिया गया था वहां से चंद दूरी पर ही कोतवाली थाना हैं। अज्ञात लड़के लगातार आधे घण्टे तक फायरिंग करते रहे और वाहनों के शीशे तोड़ते रहे, लेकिन कोतवाली थाना पुलिस मौके पर नहीं पहुंच सकी। घटना के काफी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक बाइक पर सवार लोग फायरिंग करके भाग चुके थे। मामले में पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डे  का कहना है कि हमने अभी तक कुल 9 लोगों की गिरफ्तारियां की है। जिसमें से पांच लोगों को शुक्रवार को पकड़ा था और चार लोगों को आज पकड़ा है। वहीं एएसपी नेे कहा कि अभी और गिरफ्तारियों के लिए जगह जगह दबिश दी जा रही हैं। मामले में किसी को भी नहीं बक्शा जाएगा।

Powered by Blogger.