INDORE : सगाई से नाराज प्रेमी घर में घुसकर बोला- न तू बचेगी, न मैं और चला दी गोली; युवक की मौत, युवती बची

छत्रीपुरा क्षेत्र के आदर्श इंदिरा नगर में शनिवार रात एक प्रेमी ने प्रेमिका के घर में घुसकर उसे गोली मारी फिर कनपटी पर पिस्टल रखकर खुद भी जान दे दी। गोली युवती के कान के पास से छूकर निकली। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक, प्रेमिका की कहीं और सगाई तय हो गई थी जिससे नाराज प्रेमी ने वारदात को अंजाम दिया।

मानसून के आते ही प्रशासन एलर्ट : बारिश ने खोली निगम के पानी निकासी व्यवस्था की पोल, जिला हुआ पानी-पानी, मोर्चा संभालने मौके पर उतरे कलेक्टर

वारदात शनिवार रात आदर्श इंदिरा नगर में हुई। गांधी नगर नेनोद निवासी 26 साल का नवीन परमार यहां रहने वाली अपनी प्रेमिका के घर पहुंचा। प्रत्यक्षदर्शी युवती के भाई ने बताया वह कमरे में सोया था। अचानक नवीन गाली-गलौज करते आया और पिस्टल दीवार पर ठोकते हुए दीदी से विवाद किया। मैं जब तक बाहर आया, तब तक वह दीदी पर गोली चला चुका था। बाद में उसने खुद को गोली मार ली।

मानसून की दस्तक : 20 जून के बाद जमकर बारिश की संभावना : लगातार तीन- चार दिन से हवा का रुख बना

गोली चलने और शोर सुनकर आसपास के लोग पहुंचे। इस दौरान नवीन की मौत हो गई, जबकि युवती की स्थिति सामान्य है। उसे अस्पताल ले जाया गया है। नजदीकी लोगों के मुताबिक दोनों साथ में काम करते थे। इस दौरान उनमें नजदीकियां बढ़ी।

राज्य सरकार कर्मचारियों को बड़ी राहत : 1 से 31 जुलाई तक होंगे ट्रांसफर : नई पॉलिसी में कोरोना से गंभीर बीमार हुए सरकारी कर्मी को तबादले में प्राथमिकता मिलेगी

CSP एसकेएस तोमर ने बताया दोनों कुछ समय पहले तक यशवंत प्लाजा में अलग-अलग कंपनी अकाउंटेंट का काम करते थे। युवती के पिता नहीं हैं। घर में मां, दो बहनें व एक भाई है। दोनों में एक-डेढ़ साल से प्रेम-प्रसंग था। युवक शादी करना चाहता था। उसने युवती को गाड़ी और अंगूठी भी दी थी, लेकिन कुछ समय पहले युवती की शादी तय हो गई थी। जैसे ही शनिवार को उसे पता चला तो वह युवती के घर पहुंचा और हमला कर दिया।

झुकने को तैयार नहीं अफसर : सुर्खियों में है IAS लोकेश जांगिड़ : कहा- 'ईमानदारी महंगा शौक है, यह हर किसी के बस का नहीं'

उधर, अस्पताल में भर्ती युवती ने बयान में कहा कि नवीन घर आया और कहा जब शादी मुझसे नहीं करना थी तो ये सब क्यों किया? अब न तू जीएगी और न मैं और गोली मार दी।

Powered by Blogger.