MP : सागर जिले में पहली बार डेल्टा और अल्फा वैरिएंट के मरीजों का खुलासा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

सागर जिले में पहली बार डेल्टा और अल्फा वैरिएंट के मरीजों की पुष्टि हुई है। इनमें 4 मरीज डेल्टा और 1 मरीज अल्फा वैरिएंट का था। फिलहाल इन मरीजों के संबंध में डिटेल नहीं मिल सकी है। सूचना के अनुसार मई के आखिर में BMC लैब से जांच के लिए 15 सैंपल दिल्ली लैब भेजे गए थे। उक्त सैंपलों की रिपोर्ट शुक्रवार को मिली है। प्रशासन के मुताबिक सभी मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं।

दीदी! ओ दीदी...माफ कर दो : अश्लील कमेंट्स करने वाले एक मनचले की युवती ने की बीच बाजार में धुनाई : हाथ जोड़कर मांगी माफ़ी

बायोलॉजी लैब नोडल अधिकारी डॉ. सुमित रावत ने बताया कि एनसीडीसी दिल्ली जांच के लिए भेजे गए सैंपलों की रिपोर्ट में सागर में डेल्टा के 4 केस और 1 अल्फा का केस मिला है। इसके पहले डेल्टा वैरिएंट का कोई भी केस सागर में नहीं आया था।

CBI भोपाल की कार्यवाही से मचा हड़कंप : RPF का सब इंस्पेक्टर झुग्गी झोपड़ी के निवासियों से 7 हजार रुपये की घूस लेते रंगे हाथों पकड़ाया

डेल्टा वैरिएंट के संक्रमण से कैसे बचें?

स्वास्थ्य मंत्रालय की एडवाजरी के मुताबिक कोरोना का कोई भी वैरिएंट हो, उससे फैलने से रोकने और बचाव का तरीका एक ही है। जैसे कोई भी वैरिएंट मास्क में नहीं घुस सकता। वैक्सीन लेकर भी डेल्टा प्लस वैरियेंट का सामना किया जा सकता है। मंत्रालय ने कहा कि कोविशील्ड और कोवैक्सीन, दोनों वैक्सीन डेल्टा वेरियंट के खिलाफ प्रभावी हैं।

विधायक जी ये गलत है: न मास्क न सामाजिक दूरी, शादियों में बधाई देने पहुंचे रहे मुलताई विधायक, संक्रमण फैला तो कौन होगा जिम्मेदार

उज्जैन, रायसेन, भोपाल में भी मिल चुके हैं केस

इससे पहले उज्जैन और भोपाल में डेल्टा + वैरिएंट मिला था। हालांकि सागर में प्लस वैरिएंट नहीं पाया गया है। मध्यप्रदेश में प्लस वैरिएंट से दो मौतें हो चुकी हैं।

Powered by Blogger.