SATNA : 35 पेटी शराब व 4 लाख रूपए का मामला : शहडोल जा रहे तस्करों के साथ सतना शहर में बड़ा खेल खेलने वाला आरक्षक मंयक मिश्रा पुलिस सेवा से बर्खास्त

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

शराब तस्करों से गठजोड़ कर वसूली करने वाले सतना के आरक्षक मंयक मिश्रा को एसपी धर्मवीर सिंह यादव ने पुलिस सेवा से बर्खास्त कर दिया है। बताया गया कि 23 दिन पहले राजस्थान के धौलपुर से भूसे वाली ट्रैक्टर-ट्रॉली में शराब छुपाकर मध्यप्रदेश के शहडोल जा रहे तस्करों के साथ सतना शहर में बड़ा खेल हुआ था। यहां सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के सतना नदी के पास दो पुलिस कांस्टेबल ने शराब से लोड़ ट्राली को पकड़ लिया। एक नकली टीआई बुला लिया और उसे खड़ाकर 10 लाख रुपए की डिमांड की। आधी रात 4 लाख रुपए में सौदा तय ​हुआ। दो लाख रुपए नकद ले लिए। दो लाख रुपए किसी तस्कर की महजनी में दूसरे दिन रीवा में देने की बात सामने आई।

दूसरे का आधार नंबर लिंक कर धोखाधड़ी : बैंक अधिकारियों की साठगांठ के कारण महिला को गंवानी पड़ गई 21 लाख की जमापूंजी

फिर भी आरोपी आरक्षकों ने तस्करों पर भरोसा नहीं किया। जैसे ही उनकी ट्रैक्टर ट्राली अमरपाटन नगर परिसद के पास पहुंची तो पुलिस को सूचना देकर पकड़वा दिया। हालांकि शुरुआत से ही पुलिस गिरफ्त में आए दोनों आरोपियों ने पूरी कहानी आम आदमी से लेकर वरिष्ठ अधिकारियों तक को दे दी। इसके बाद जब सोशल मीडिया में शोर मचा तो एसपी ने गोपनीय जांच कराकर सतना पुलिस लाइन में तैनात मंयक मिश्रा को निलंबित कर दिया। वहीं कुछ दिन बाद चोरहटा थाने में पदस्थ कांस्टेबल शिवम द्विवेदी को रीवा एसपी राकेश सिंह ने निलं​बित कर दिया था।

सोशल मीडिया पर सुसाइड का स्टेटस लगाकर युवक ने लाइसेंसी पिस्टल से खुद को मारी गोली

ऐसे हुआ था खुलासा

अमरपाटन थाना पुलिस ने शराब तस्करी के मामले में आरोपी रमेश जायसवाल व ट्रैक्टर चालक श्याम जायसवाल को गिरफ्तार किया था। इनके कब्जे से 69 पेटी शराब जब्त करते हुए आरोपियों के खिलाफ आबकारी अधिनियम की धारा 34 (2) के तहत कार्रवाई की गई है। इन्हीं आरोपियों ने पुलिस को बताया था कि पकड़े जाने से पहले उनसे लाखों रूपए की रकम वसूली गई थी। जहां पर शराब की पेटियां ले जाने व लाखों रुपए की वसूली का जिक्र सामने आया था।

पेट्रोल-डीजल और रसाेई गैस के बढ़ते दामों को लेकर रीवा, सतना समेत जगह जगह कांग्रेस का हल्ला बोल प्रदर्शन : BJP पर निशाना साधते महंगाई कम करने की उठाई मांग

जांच के बाद सिटी कोतवाली में दर्ज हुआ था मामला

सोशल मीडिया में लगातार पुलिस की हो रही किरकिरी व शराब तस्करों के बयान के बाद एसपी ने सिटी कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज करवाई थी। इस अपराध में आरोपी आरक्षक मयंक​ मिश्रा जिला पुलिस बल, रीवा में पदस्थ आरक्षक शिवम द्विवेदी, रामपुर बाघेलान के विरेन्द्र द्विवेदी एवं एक अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 342, 388, 384, 34 व भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7 के तहत अपराध दर्ज किया गया था।

तीन दिन से लापता फुटकर व्यापारी युवक का जंगल में फंदे से लटकता मिला शव : लूट के बाद हत्या होने का आरोप

राजस्थान के शराब तस्करों से सतना पुलिस की सौदेबाजी:दो सिपाहियों ने नकली TI दिखाकर शराब तस्करों से 4 लाख रु. वसूले, फिर शराब भी पकड़वा दी; SP ने कराई FIR

झोला भरकर 11 लाख की रिश्वत लेने वाले MPIDC के कार्यकारी संचालक एपी सिंह के खिलाफ EOW ने दर्ज की FIR

मैहर एसडीओपी ने की मामले की जांच

शहर के सिटी कोतवाली थाने में अपराध दर्ज होने के बाद आरोपी आरक्षक मयंक मिश्रा अमरपाटन थाने में आधे अधूरे बयान देने के बाद भाग गया था। इसके बाद पूरे मामले की विवेचना एसडीओपी मैहर हिमाली सोनी को सौंप दी गई थी। विवेचना के दौरान आरोपियों को उपस्थित होने के लिए कई बार नोटिस दिया गया। साथ ही उनके घर और रिश्तेदारों के यहां नोटिस दी गई है। फिर भी आरोपी गिरफ्त में नहीं आएं है। ऐसे में सख्त कार्रवाई करते हुए एसपी ने आरोपी मयंक​ मिश्रा को बर्खास्त कर दिया है।

युवती ने वीडियो कालिंग कर नहर में की आत्महत्या : दोस्त को सेल्फी भेजकर बोली- बचा स​कते हो तो बचा लो : फिर ...

रीवा जिले के आरक्षक पर नहीं हुई अभी कार्रवाई

शराब का अवैध परिवहन करने वालों को कार्रवाई का भय दिखाकर लाखों की रकम वसूलने के मामले में जहां निलंबित आरक्षक मयंक मिश्रा को पुलिस सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। वहीं इसी मामले में आरोपी रीवा जिले के आरक्षक शिवम द्विवेदी पर कार्रवाई होना बाकी है। मौजूदा समय में मामले की विवेचना के दौरान अब तक आरोपी ​की​ गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

Powered by Blogger.