MP : हो जाइए सावधान : अब जून में हर दिन एक बच्चा कोरोना पॉजिटिव, जो पहले संक्रमित हुए उनमें पीलिया के लक्षण

सागर में 15 साल से कम उम्र के बच्चे हर दिन कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। इतना ही नहीं अप्रैल और मई माह में जो बच्चे कोरोना संक्रमित हुए थे, उनमें अब पीलिया की शिकायत मिल रही है। इसकी पुष्टि सोनोग्राफी सेंटरों के आंकड़ों से होती है। तिली रोड स्थित एक सोनोग्राफी सेंटर संचालक बताते हैं कि उनके सेंटर पर हर दिन 7 से 8 बच्चों की सोनोग्राफी हो रही है।

सीहोर-इंदौर-बिलासपुर नर्मदा एक्सप्रेस में युवती की गला रेतकर हत्या करने वाले आरोपी ने किया सुसाइड

वहीं शहर की बात करें तो 15 से 20 बच्चों की जांच हर दिन की जा रही है। इनमें किसी के माता-पिता दोनों कोविड पॉजिटिव थे, तो कहीं दो माह पहले बच्चे भी कोरोना का शिकार हुए। एक्सपर्ट का कहना है कि अधिकांश बच्चों में कोविड पॉजिटिव होने के बाद भी लक्षण नहीं दिखाई देते। ऐसे में कई परिवारों ने बच्चों की जांच ही नहीं कराई और वे ठीक भी हो गए। लेकिन अब इन बच्चों में पीलिया के लक्षण दिख रहे हैं।

33 मरीजों को एंटी फंगल इंजेक्शन के रिएक्शन का मामला उजागर, रिएक्शन के बाद शासन ने भेजी टेबलेट, डॉक्टरों ने एक भी मरीज को नहीं दी

केस-1 बच्चे का नहीं कराया टेस्ट, दो माह बाद पीलिया

निजी अस्पताल में भर्ती 4 साल का बच्चा पीलिया से ग्रस्त है। बताया जा रहा है कि दो माह पहले बच्चे के माता-पिता कोरोना पॉजिटिव हुए थे। लेकिन बच्चे में कोई लक्षण न दिखने के कारण उन्होंने जांच नहीं कराई। अब दो माह बाद अचानक उसके पेट में दर्द शुरू हुआ और आंखों में पीलापन दिखाई देने लगा।

छेड़छाड़ करने वाले मनचले को फटकार लगाना एक छात्रा को पड़ा भारी, छात्रा का नंबर वायरल कर लिखा- कॉल गर्ल, 100 से ज्यादा काॅल आते : फिर ..

केस-2 सोनोग्राफी के बाद बालिका को पीलिया निकला

गोपालगंज निवासी 5 वर्षीय बालिका को पीलिया की शिकायत है। डॉक्टर ने बताया कि बालिका एक माह पहले कोरोना संक्रमित हुई थी। जिसके बाद उसका कोविड का इलाज किया गया। हालांकि लक्षण ज्यादा न होने के कारण अस्पताल में भर्ती करने की नौबत नहीं आई। लेकिन तीन पहले अचानक उसके पेट में दर्द हुआ और सोनोग्राफी कराने पर बालिका पीलिया ग्रस्त मिली।

15 जून के बाद UNLOCK की नई गाइडलाइन, 40 दिन से ज्यादा समय से बंद भोपाल और इंदौर राहत देने की आशंका : 11 से 5 बजे तक बाजार खुलने की सिफारिश

कुछ बच्चों में कोविड एंटीबॉडी भी मिली है

बच्चे खुद व खुद ठीक भी हो जाते हैं। लेकिन अब अचानक ऐसे कई बच्चे मिल रहे हैं, जिन्हें पीलिया की शिकायत है। हर दिन 5 से 7 बच्चों की सोनोग्राफी हो रही है। जब मैंने कुछ बच्चों का एंटीबॉडी टेस्ट कराया तो उनमें कोविड की एंटीबॉडी भी मिली। यानी बच्चे कोरोना पॉजिटिव हुए, लेकिन लक्षण न दिखने के कारण उनका टेस्ट नहीं कराया।

डॉ. अजीत असाटी, असिस्टेंट प्रोफेसर शिशु रोग विभाग बीएमसी

Powered by Blogger.