REWA : वांटेड अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही शुरू : पुलिस ने शहर के मोस्ट वांटेट शराब तस्कर को किया गिरफ्तार : अलग-अलग थानों में 66 केस दर्ज

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


रीवा में पुलिस ने शहर के मोस्ट वांटेट शराब तस्कर शनि वर्मा को गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ अलग-अलग थानों में 66 केस दर्ज हैं। इनमें सबसे ज्यादा केस आबकारी एक्ट के हैं। वह दो दिन पहले ही जेल से छूटा था। लोगों ने आरोपी की गिरफ्तारी का विरोध जताया। लोगों ने चक्काजाम भी कर दिया। इसके बाद पुलिस ने सबको खदेड़ दिया। आरोपी के पास से कोरेक्स की 13 शीशियां मिली हैं।

रीवा में अब महिलाएं हो जाएं सावधान : बाइकर्स गैंग ने पुलिस विभाग को दी खुली चुनौती, 7 दिन में 7 जगहों पर महिलाओं को बनाया निशाना

रविवार को एसपी ने अफसरों की बैठक की थी। इसमें उन्होंने वांटेड अपराधियों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। इसी के तहत अमहिया पुलिस ने कार्रवाई की। रविवार रात 8 बजे शनि वर्मा अपने साथी के साथ कोरेक्स की तस्करी करने जा रहा था। पुलिस का प्लान भांपकर आरोपी भागने लगा। पुलिस ने घेराबंदी कर उसे पकड़ लिया। तलाशी में उसके पास से 13 शीशी कोरेक्स की जब्त की गईं। आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

रीवा में दो दिनों से बदला मौसम का मिजाज : आज सोमवार की सुबह 9 बजे से चालू हुआ वर्षा का दौर

अमहिया थाना प्रभारी एसआई शिवा अग्रवाल ने बताया, शनि वर्मा (30) निवासी तरहटी है। उसके खिलाफ विभिन्न थानों में 66 केस दर्ज हैँ। इनमें 43 केस सिटी कोतवाली में ही दर्ज हैँ। बाकी सिविल लाइन और दूसरे थानों में दर्ज हैं। इनमें सबसे ज्यादा केस आबकारी एक्ट के तहत दर्ज हैं।

पुलिस कंट्रोल रूम में त्योहारों और अपराधों के संबंध में हुई समीक्षा : SP के शख्त निर्देश; अपने-अपने क्षेत्रों के अपराधियों की कुंडली तैयार कर लें

गिरफ्तारी का विरोध भी किया गया

आरोपी शनि वर्मा की बहन छाया वर्मा ने आरोप लगाते हुए बताया, शनि 7 अगस्त को जेल से छूट कर आया था। उसे दूसरे ही दिन एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार कर लिया गया। उसने कोरेक्स की तस्करी नहीं की थी। वह सिर्फ शराब तस्करी करता था, लेकिन घर से बाहर निकलते ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इन्हीं आरोपों को लेकर पीटीएस चौराहे स्थित शराब दुकान के पास दोपहर 2 बजे चक्काजाम किया गया। पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए सबको खदेड़ दिया।

बाइकर्स गैंग्स के बढ़ते अपराध को लेकर पुलिस का एनाउंस अलर्ट जारी : रेवांचल बस स्टैंड में अब रात 10 बजे के बाद कोई भी दुकानें खुली तो खैर नहीं ..

2005 में पहला केस दर्ज हुआ

पुलिस ने बताया, शनि वर्मा के खिलाफ वर्ष 2005 में सिटी कोतवाली थाने में आबकारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था। वर्ष 2010 आते-आते ये 43 मामले हो गए। इनमें आबकारी एक्ट, जुआ एक्ट, मप्र राज्य सुरक्षा अधिनियम आदि धाराओं के तहत केस हैं। इसके बाद सिविल लाइन थाने में 18, बिछिया थाने में 3, समान थाने में दो केस दर्ज हैं।

Powered by Blogger.