REWA : डी टाइप के टावरों की शिफ्टिंग शुरू : 10 जनवरी तक प्रभावित रहेगी शहर के कई इलाकों की बिजली : पढ़ लीजिये यह जरुरी खबर

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा (rewa news) रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण में बाधा बने डी टाइप के टावरों की शिफ्टिंग शुरू हो गई। ऐसे में दो लाइनों में शटडाउन की​ स्थितियां बन रही थी। जिससे आगामी 7 दिनों तक शहर के एक दर्जन मोहल्लों में सिर्फ 8 घंटे बिजली की सप्लाई होगी। विद्युत अधिकारियों की मानें तो आरओबी ​के बगल में बने सब स्टेशन के डी टाइप टावरों को स्थानांतरित किया जाना है।

3 साल बाद हत्या का खुलासा : प्रेमी की बाहों में बेटी को देख पिता ने की थी हत्या, शव को बोरे में भरकर 15 KM दूर फेंका था

ऐसे में 4 जनवरी से 10 जनवरी तक गोड़हर सब स्टेशन से बिजली की आपूर्ति आंशिक रूप से बाधित रहेगी। इस अवधि में सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक 132 केव्ही रीवा इंटरकनेक्टर (KV Rewa Interconnector) एक व दो लाइन में शटडाउन रहेगा। जिसके कारण 132 केव्ही गोड़हर में 60 मेगावाट ही बिजली उपलब्ध होगी।

बस और डंपर की जोरदार भिड़ंत : महाकाल बस में लगी भीषण आग; 16 यात्री बुरी तरह घायल, परमिट हुआ तत्काल प्रभाव से निरस्त

ये क्षेत्र होंगे प्रभावित

बताया गया कि कम आपूर्ति के कारण उच्च दाब उपभोक्ता मेसर्स जेपी रीवा लिमिटेड, रेलवे एवं व्हीटीएल रीवा के साथ-साथ 132 केव्ही गोड़हर से जुड़े हुए विद्युत उपकेन्द्र बनकुइयां, छिजवार, तिघरा, बहुरी बांध, हिनौता, गोदहा, चोरहटा औद्योगिक केन्द्र, डोमा, इटहा, करहिया एवं यूनिवर्सिटी (University) से जुड़े हुए उपभोक्ता प्रभावित होंगे।

देह व्यापार का बड़ा खुलासा : 1000 रु में ग्राहकों को फंसाती थी सितारा,नेटवर्क में थी कई महिलाएं; 15 आरोपी पहुंचे जेल

इस तरह होगी व्यवस्था

अधीक्षण यंत्री ऊर्जा विभाग ने बताया कि 132 केव्ही उपकेन्द्र गोड़हर से 135 मेगावाट बिजली की आपूर्ति की जाती है। लेकिन 4 से 10 जनवरी के बीच इससे केवल 60 मेगावाट ही बिजली की आपूर्ति की जाएगी। जिसके लिए उपकेन्द्र से जुड़े ग्रामीण क्षेत्रों को तीन समूहों में बांटकर 8-8 घंटे बिजली प्रदाय की व्यवस्था की गई है।

Powered by Blogger.