सस्पेंड : मुस्लिम लड़की से लव मैरिज कर दहेज के लिए किया प्रताड़ित : मां और पिता भी आरोपी


इंदौर. साथ में पढ़ने वाली मुस्लिम लड़की के साथ लव मैरिज के बाद उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करने वाले आबकारी अधिकारी विनय रंगशाही की मुसीबतें बढ़ गई हैं। 6 माह पहले 21 जून 2021 को जहां पत्नी ने अधिकारी के खिलाफ भंवर कुंआ थाने पर दहेज प्रताड़ना के आरोपों के तहत FIR दर्ज कराई थी, वहीं अब विभाग ने भी कार्य में लापरवाही बरतने के चलते रंगशाही को सस्पेंड कर दिया है।

घूमने के बहाने घर ले जाकर खींचे आपत्तिजनक फोटो : अब ब्लैकमेल कर सहेलियों और दोस्तों को भी भेजे फोटो

रंगशाही की पत्नी ने दहजे प्रताड़ना के अलावा भी कई गंभीर आरोप लगाए थे, हालांकि अब तक फरार आरोपी पति की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। पिछले दिनों विभाग ने रंगशाही का ट्रांसफर अलीराजपुर से उज्जैन कर दिया था। लेकिन रंगशाही बिना किसी सूचना के गायब है।

भोपाल के अरेरा कॉलोनी में इडन स्पा सेंटर पर पुलिस का छापा : आपत्तिजनक हालत में 6 युवतियां और 5 युवक गिरफ्तार

भंवर कुंआ TI संतोष दूधी ने बताया कि नेमावर रोड निवासी फरहत नाजनीन ने अपने पति विनय रंगशाही के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। फरहत के अनुसार विनय रंगशाही और वह साथ में पढ़ते थे। इसी दौरान दोनों के बीच दोस्ती हो गई। ये दोस्ती प्यार में तब्दील हो गई। बाद में उन्होंने शादी कर ली। फरहत भी स्वास्थ्य विभाग में नौकरी करती है। फरहत ने बताया, शादी के बाद से ही विनय ने दहेज के लिए परेशान करना शुरू कर दिया था। इसमें विनय के पिता रिटायर्ड DSP अशोक रंगशाही और उनकी मां भी विनय का साथ देते थे।

जानें, कौन से सेक्स पोजिशंस प्रेगनेंसी में समय पर डिलीवरी कराने में करते हैं मदद

रंगशाही की जमानत अर्जी पूर्व में ही जिला कोर्ट से खारिज हो चुकी है। जिसके बाद रंगशाही के पिता ने हाईकोर्ट की शरण ली थी। लेकिन वहां से भी अर्जी खारिज हो गई थी।

पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी होती है ? सही जानकारी

लंबे समय से फरार आबकारी अधिकारी विनर रंगशाही की जमानत जिला कोर्ट नेखारिजकर दी गई है। 2 माह पूर्व आबकारी अधिकारी पर महिला द्वारा भंवरकुआं थाने पर सास-ससुर और पति पर दहेज प्रताड़ना का मामला भी दर्ज करवाया था। मामले को लेकर आरोपी रंगचाही ने अग्रिम जमानत के लिए जिला कोर्ट में आवेदन दिया था जिसे कोर्ट द्वारा खारिज कर दिया गया है।

दुनिया की 4 अजब-गजब मिस्ट्री जिन्हें कोई नहीं सुलझा पाया

मामले में लोक अभियोजक विमल कुमार मिश्रा ने बताया कि आरोपी विनय रंगशाही द्वारा जिला कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए आवेदन प्रस्तुत किया गया था। लेकिन पीड़ित पक्ष व सभी को ध्यान में रखते हुए अग्रिम जमानत का आवेदन खारिज कर दिया गया है।

पुरुषो के लिए बहुत फायदेमंद है किसमिस और शहद, सेक्सुअल समस्याओं को भी करता है दूर, जानें इसके अनोखे फायदे....

फरियादी पक्ष का आरोप था कि उसके विनय के पिता अशोक रंगशाही पूर्व डीएसपी हैं। उन्होंने पुलिस से सांठगांठ कर रखी है, इसलिए उसकी गिरफ्तारी नहीं हो पा रही है। रंगशाही पक्ष का आरोप है कि पैसा वसूली और ब्लैकमेल करने के लिए शराब ठेकेदारों के साथ मिलकर झूठी रिपोर्ट लिखवाई है। मामले में रंगशाही की आबकारी आयुक्त से शिकायत हुई थी। लेकिन इसी बीच रंगशाही का तबादला आलीराजपुर से उज्जैन संभाग उडऩदस्ते में कर दिया। फरारी में भी रंगशाही इंदौर आ-जा रहा है।

यह था मामला 

26 जून को इंदौर के भवर कुआं थाना क्षेत्र में आबकारी अधिकारी विनय रंगशाही के खिलाफ उनकी पत्नी ने दहेज प्रताड़ना सहित कई गंभीर आरोप लगाते हुए एफ.आई.आर दर्ज कराई थी। लगभग 1 माह बीत जाने के बाद भी रंग शाही की गिरफ्तारी नही हो सकती जिसके बाद पीडिता ने कुछ पूर्व आईजी हरिनारायण चारी मिश्र को अपनी पीड़ा बताते हुए कार्रवाई करने का आवेदन दिया था।जिसके बाद आबकारी विभाग के अधिकारी विनय रंगशाही कई दिनों से चल रहे घटनाक्रम में पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय में ज्ञापन दिया और खुद का पक्ष रखा। साथ ही महिला पर कूट दस्तावेज प्रस्तुत करने का भी आरोप लगाया। रंगशाही द्वारा पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय में ज्ञापन दिया गया, जिसमें रंगशाही ने बताया कि उक्त महिला से विनय ने कभी कोई विवाह नहीं किया।साथ ही विनय ने ज्ञापन में कहा कि महिला द्वारा प्रस्तुत किए गए दस्तावेज सभी फर्जी है और उनकी जांच होनी चाहिए।

Powered by Blogger.