बेरोजगारी ने बनाया मेल सेक्स वर्कर : बड़े घरों की शादीशुदा महिलाएं तक कांटेक्ट, एक रात का चार्ज 5 हजार रुपए, इंस्टा के जरिए ही संपर्क करती है महिला

प्रोस्टिट्यूशन से मेल सेक्स वर्कर भी जुड़े हुए हैं। इन्हें प्लेबॉय या जिगोलो कहा जाता है। उज्जैन की रहने वाली जर्नलिज्म की एक स्टूडेंट ने मेल सेक्स वर्कर से बात की। स्टूडेंट ने खुद को कस्टमर बताया। उसने युवक के इस पेशे में आने की वजह जानी। उसने बताया कि उसकी कस्टमर बड़े घरों की शादीशुदा महिलाएं तक होती हैं। वे उससे इंस्टा के जरिए संपर्क करती हैं। 

अवैध संबंध के शक में बेटे ने मां के प्रेमी की गला रेतकर कर दी हत्या : छाती पर छह बार किये ताबड़तोड़ वार, दोनों आरोपी गिरफ्तार

मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी से BA ऑनर्स इन जर्नलिज्म कर रही हूं। मैंने पुरुषों के प्रोस्टिट्यूशन के बारे में सुना तो विश्वास ही नहीं हुआ। इंस्टाग्राम पर चेक किया तो कई प्लेबॉय की ID मिली, लेकिन इसकी सच्चाई का पता लगाना था। इसके लिए मीनाक्षी नाम से एक फेक ID बनाई और जिगोलो से संपर्क करना शुरू कर दिया। इंस्टाग्राम पर प्लेबॉय इन दिल्ली नाम से बनी ID पर अमन मिला। 2 मार्च को उससे मीनाक्षी नाम से चैटिंग शुरू की। असली जिगोलो होने की पुष्टि होने पर कस्टमर बनकर चर्चा की।

IRCTC ने प्रतिदिन देशभर में 22 हजार यात्रियों को पसंदीदा खाना खिलाकर हासिल किया देश में पहला स्थान

खुद को विवाहित बताकर उसे यह विश्वास दिलाया कि मैं पति से खुश नहीं हूं। उसका साथ चाहती हूं। लगातार 12 दिन चैटिंग करने पर अमन ने एक रात का चार्ज 5 हजार रुपए बताया। मैं अब तक उसे भरोसे में ले चुकी थी। एक-दूसरे को पहचानने के लिए VIDEO कॉलिंग की शर्त रखी, तो वह तुरंत मान गया। उसने इंस्टा पर ही VIDEO कॉल किया। कुछ सेकेंड बाद ही मैंने पति के लौटने का बहाना बनाकर उससे जल्द मिलने का कहकर कॉल डिसकनेक्ट कर दिया।

20 वर्षीय युवती को गांव में नल फिटिंग करने आए युवक से प्यार : मंगेतर के व्हाट्सएप पर अश्लील फोटो भेज तुड़वा दी सगाई, FIR दर्ज

अमन ने बातचीत में बताया कि उसकी फाइनेंशियल कंडीशन ठीक नहीं है। इस वजह से गर्लफ्रेंड उसे छोड़ गई। बेरोजगारी के कारण आर्थिक तंगी थी। इस वजह से पत्नी उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं करती थी। इसीलिए वह जिगोलो बन गया। उसकी कस्टमर बड़े घरों की शादीशुदा महिलाएं तक होती हैं। महिलाएं उससे इंस्टा के जरिए ही संपर्क करती हैं। वह उनसे मिलता है, उन्हें पसंद आने पर ही डील फाइनल होती है, नहीं पसंद आता हूं तो कैंसल। कोरोना ने कस्टमर कम कर दिए हैं। लॉकडाउन से पहले तक उसे काफी कस्टमर मिलती थीं। अब कम हो गई हैं।

मार्च के महीने से ही भीषण गर्मी पड़नी शुरू : मौसम विभाग ने येलो अलर्ट किया जारी, रीवा समेत इन जगहों में तेज गर्मी

मैंने उससे पूछा- ये जॉब छोड़ क्यों नहीं देते? उसका जवाब था- थैंक्स अ लॉट डियर, इतने प्यार से पहले कभी किसी ने बात नहीं की। इस पेशे को छोड़ने की सोचता हूं, लेकिन पैसों की तंगी आड़े आ जाती है। अब फिर सोचूंगा... और छोड़ ही दूंगा।

कैसे ढूँढी मैंने 1 अनोखी गोली जिससे मेरे पति का मोटे और सख्त तरह से खड़ा होना फिर से शुरू हो गया...और

Powered by Blogger.