REWA सत्ता के आंचल में छुपकर व नेताओं का आशीर्वाद लेकर देते हैं घटना को अंजाम : 8 विधायक व एक सांसद की चुप्पी पर खड़े हो रहे बड़े सवाल : गुरमीत सिंह मंगू

रीवा। राज निवास में सत्ता दल के संरक्षण में संत के भेष में आपराधिक प्रवृत्ति वाले बाबा ने जिस तरह से नाबालिग बेटी के साथ दुराचार किया उससे रीवा की छवि प्रदेश ही नहीं देश में धूमिल हुई हम सब शर्मसार है। दुख इस बात का है की सत्ता दल भाजपा के रीवा जिले से आठ विधायक व एक सांसद निर्वाचित है इतनी बड़ी घटना में उनका मौन रहना कई सवालों को जन्म देता है। 

युवकों द्वारा बर्थडे सेलिब्रेट पर ताबड़तोड़ फायरिंग का वीडियो वायरल, अवैध हथियार का गढ़ बनता जा रहा रीवा

उक्त विचार जिला शहर कांग्रेस अध्यक्ष गुरमीत सिंह मंगूए रमाशंकर सिंह ने रविवार को कांग्रेस कार्यालय में पत्रकारों से मुखातिब होते हुए व्यक्त किया। उन्होंने आगे कहा कि यह तो उस पीड़िता बेटी का सौभाग्य था कि उसकी वेदना को पत्रकारों ने गंभीरता से लिया और ईमानदारी के साथ मामले को उजागर किया जिससे सत्ता दल और जिला प्रशासन के हाथ पांव फूल गए और उस बेटी की फरियाद दर्ज हुई वरना जिस तरह से अपराध का ग्राफ भारतीय जनता पार्टी की सरकार में बढ़ रहे हैं और अपराधी सत्ता के आंचल में छुप कर आजाद है उसी तरह इस बेटी के गुनहगार घूमते यही नही आरोपी संत भगवा चोला पहनकर नेताओं को आशीर्वाद देते हुए कथा वाचन करता रहता। उन्होंने यह भी कहा कि भले ही पुलिस कप्तान ने मामले को गंभीरता से लेकर आरोपियों की गिरफ्तारी कर उन्हें जेल भिजवा दिया ।

हिंदुस्तान के खिलाफ जहर उगलने वाले कव्वाल नवाज शरीफ को न्यायालय में पेशकर भेजा जेल

राजनिवास पर कमरा एलाट कराने वालों को बेनकाब करने की मांग

राज निवास का कमरा नंबर 4 किस राजनेता के इशारे पर विधायक, मंत्री, प्रभारी मंत्री के कहने पर प्रशासनिक अधिकारी बताएं। रीवा जिले की जनता जानना चाहती है और जो भी दोषी अधिकारी या सत्ताधीश है उन पर भी कार्यवाही करें वरना जो दाग राज निवास के माथे पर लग गया है वह कभी धुल नहीं पाएगा।

बघेलखंड का बाहुबली : जानिए कैसे संजय से बने गैंगस्टर दादा भाई, नागपुर में गोलियां चला कर रखा अपराध जगत में कदम

शराब ठेकेदार पर हमला भाजपा का खेल

गुरमीत सिंह मंगु ने पत्रकारों से यह भी कहा कि रीवा शहर की जनता शराब की दुकान खोले जाने का लगातार विरोध कर रही हैं इसके बावजूद रीवा के विधायक मौन धारण किए हुए है और उनके साथी विधायक शहर की चार दुकाने हटाने का अंदोलन चल रहा है। सेमरिया विधायक 40 किलोमीटर दूर सेमरिया की शराब दुकानों का विरोध छोड़कर रीवा शहर की एकमात्र दुकान उरहट का विरोध गुंडों की फौज लेकर की। क्या यही भारतीय जनता पार्टी की संस्कृति व आचरण है। 

क्या भारतीय जनता पार्टी के प्रितु पुरुष पंडित दीनदयाल उपाध्याय व कुशाभाऊ ठाकरे ने कल्पना की थी कि उनके विचारधारा के निर्वाचित जनप्रतिनिधि अपने स्वार्थ के लिए गुंडागर्दी करेंगे रीवा की संस्कृत व सभ्यता को कलंकित करेंगे। विधायक जी ने शराब की दुकान का विरोध किया अच्छी बात है विरोध पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने भी किया लेकिन उन्होंने ठेकेदार को हमला कर घायल नहीं किया विधायक जी शराब विरोधी हैं तो उन्हें बिछिया करहिया एसएफ चौराहा सहित अन्य दुकानों का भी विरोध करना चाहिए था साथ ही रीवा के विधायक को भी उक्त विरोध में शामिल होकर जिला प्रशासन से आवंटित हुई दुकानों का लाइसेंस निरस्त कराना चाहिए लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। 

इससे स्पष्ट है कि सेमरिया के विधायक शराब दुकान खोले जाने का विरोध नहीं प्रतिस्पर्धा में अपने लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए गुंडागर्दी जैसे खेल को अंजाम दिया इसमें भी जिला प्रशासन को निष्पक्षता के साथ जांच कर कार्रवाई करनी चाहिए साथ ही जिन शराब दुकानों के स्थानों का विरोध रीवा जिले की जनता कर रही है उन स्थानों को परिवर्तित व बन्द किया जाना चाहिए।

बाहुबली संजय त्रिपाठी के निर्माणाधीन कॉम्प्लेक्स पर चला प्रशासन का बुलडोज़र, प्रशासन, निगम अमला समेत भारी पुलिस बल और ब्लैक कमांडो मौजूद

गृह मंत्री पर साधा निशाना, पूंछे सवाल

काग्रेस शहर अध्यक्ष ने प्रेस वार्ता के दौरान प्रदेश के गृह मंत्री पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा जी ने कब्बाल मामले में प्रेस वार्ता कर कब्बाल को पकडने की बात कही, मेरा भी यह मानना है कि देशहित राष्ट्रहित में जो भी गलत शब्दों का उपयोग करे उसे सजा जरुर मिलनी चाहिए। लेकिन मेरा सवाल गृह मंत्री से राजनिवास की घटना में जो मंहत हैं उनके साथ गृह मंत्री जी आपकी फोटो है कृ्पया बतांऐ की मंहत से आपके क्या संबंध हैं। 

शॉपिंग कंपलेक्स की खबर सुनते ही संजय त्रिपाठी को लगा जोर का झटका, करोड़ों की बिल्डिंग मिनटों में स्वाहा ...

गृह मंत्री जी कब्बाल के मामले में आपने प्रेस वार्ता कर प्रशासन को अगाह किया कि कब्बाल को पकड़ कर लाया जाय वह उर्स के आयोजन कर्ता मुकदमा दर्ज हो सबसे बड़ा सवाल यह है कि कब्बाल जब बोल रहे थे तो भाजपा विधायक पंचू लाल प्रजापती मंच पर ही मौजूद रहे व तालियों से कब्बाल का उत्साह वरधन कर रहे थे उनके खिलाफ भी देश हित राष्ट्र हित में मुकदमा दर्ज क्यों नहीं किया गया।

Powered by Blogger.