REWA : नाबालिग लड़की को हवस का शिकार बना के रेप करने व आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाला आरोपी गिरफ्तार

रीवा जिले के गोविंदगढ़ थाना अंतर्गत नाबालिग लड़की से दुष्कर्म व आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाला आरोपी गिरफ्तार हो गया है। सूत्रों की मानें तो किशोरी घर से कुछ दूर खेत में शौच करने गई थी। जहां एक आरोपी पहुंचकर जबरदस्ती रेप किया। पीड़िता के चिल्लाने पर आरोपी डरकर भाग गया। इसी बीच लड़की ने पिता भी खेप पर पहुंच गए।

मऊगंज सिविल अस्पताल का मामला : चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगाते परिजनों ने की जमकर पिटाई, डॉक्टर को जिंदा जलाने की कोशिश

दुष्कर्म से आहत लड़की घर आ गई। जहां उसने परिजनों की गैर मौजूदगी का फायदा उठाते हुए फांसी लगा ली। तभी मां घर पहुंच गई और रस्सी काटकर नीचे उतारा गया। तुरंत किशोरी को उपचार के लिए एसजीएमएच लाया गया। लेकिन वेंटीलेटर में उपचार के दौरान किशोरी ने दम तोड़ दिया। मौत के बाद अस्पताल से लेकर थाने में हड़कंप मच गया।

हवस के पुजारी बाबा ने झाड़ फूंक के नाम पर किशोरी से किया दुष्कर्म, बोला जैसा मैं बोलता हूं, वैसा काम करो...

ये है मामला

गोविंदगढ़ थाना प्रभारी मृगेंद्र सिंह ने बताया कि 22 अप्रैल 2022 को एसजीएमएच रीवा में पीड़िता के परिजनों ने अपराध की सूचना दी। दावा किया कि नाबालिक लड़की शौच के लिए सुबह 8 बजे घर के बाहर खेत गई थी। जहां आरोपी अखिलेश मिश्रा पुत्र धनेश्वर मिश्रा (25) निवासी गढ़वा थाना गोविंदगढ़ ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। बेटी के चिल्लाने की आवाज सुनकर पिता दौड़े थे। लेकिन दुष्कर्म की वारदात से आत्मग्लानि के कारण किशोरी ने घर में जाकर फांसी लगा ली।

शादी की पहली ही रात हवालात पहुँचा युवक : दूल्हा 3 साल तक शादी का झांसा देकर गर्लफ्रेंड से कर रहा था दुष्कर्म

रेप और पॉक्सो एक्ट का मामला दर्ज

गंभीर अवस्था में परिजन एसजीएमएच में भर्ती कराने पहुंचे। जहां सूचना के बाद आरोपी अखिलेश मिश्रा निवासी गढ़वा के विरुद्ध अपराध क्रमांक 00/22 धारा 376 (3) IPC3/4 पॉक्सो एक्ट का प्रकरण कायम किया। इसके बाद गोविंदगढ़ थाना में नंबरी अपराध 156/22 धारा 376 (3) IPC3/4 पॉक्सो एक्ट का मामला दर्ज कर विवेचना शुरू की।

बैजनाथ गांव का मामला : अल्ट्राटेक सीमेंट कंपनी के हेल्पर की पत्थर पटकर हत्या, आरोपियों के विरुद्ध हत्या का प्रकरण दर्ज

पहुंचा सलाखों के पीछे

तभी उपचार के दौरान नाबालिग किशोरी की 23 अप्रैल को एसजीएमएच में सांसे थम गई। मौत के बाद पंचनामा कार्यवाही उपरांत आईपीसी की धारा 305 बढ़ाई गई। इधर मुखबिर की मदद से 24 अप्रैल को आरोपी अखिलेश मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया गया। ​इसके बाद 25 अप्रैल को विशेष न्यायाधीश पाक्सो एक्ट न्यायालय में पेश किया। जहां से आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में केंद्रीय जेल रीवा भेज दिया है।

Powered by Blogger.