MP : अगर आपको नमाज पढ़ना है तो आप बंद कमरे में या मस्जिद में पढ़ें : आकाश विजयवर्गीय

लॉउड स्पीकर पर अजान से दूसरों को हो रही परेशानी को लेकर अब भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय भी कूद पड़े हैं। आकाश का कहना है कि अगर आपको नमाज पढ़ना है तो आप बंद कमरे में या मस्जिद में पढ़ें।

रोज करीब 200 मिलीलीटर अपना यूरिन पीता है ये शख्स : बोला मैंने 10 साल कम की अपनी उम्र, डॉक्टर हैरान

मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि किसी को भी जबर्दस्ती कोई चीज सुनाने की जरूरत नहीं है। अगर मैं कोई चीज नहीं सुनना चाहता हूं तो फिर भी मुझे वो चीज जबर्दस्ती सुनना पड़ रही है तो यह गलत है। अगर आर अपने धर्म को मानते हैं और रोज नमाज पढ़ना चाहते हैं, अजान चाहते हैं तो आप इकट्‌ठा होकर बंद कमरे में पढ़े। जो नहीं सुनना चाहता उसको सुनाने की क्या जरूरत है? इसका बहुत बड़ा प्रभाव होता है।

नवविवाहिता का हैरान कर देने वाला मामला : पति की गैर मौजूदगी में ससुर ने किया रेप, तीन महीने की गर्भवती

सारी चीज नियमों से हों

विजयवर्गीय ने कहा कि एक ही स्थान पर अगर आप रोज कोई मंत्र पढ़ो तो यूं ही आपका जीवन मुक्त हो जाए, कल्याण हो जाए। इयह एक बहुत बड़ी चीज है कि रोज एक ही दिन एक ही समय पर मंत्र सुनना। अगर कोई नहीं सुनना चाहता, वो दूसरे धर्म को मानता है दूसरे मंत्र पढ़ता है, ग्रंथ पढ़ता है और जबर्दस्ती सुनाया जाए तो मुझे लगता है कि सारी चीजें नियम से होनी चाहिए।

उत्तराखंड के CM पुष्कर सिंह समेत बरेली, मुरादाबाद और हरिद्वार सहित कई स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी

हनुमान चालीसा पर कहा यह ध्यानाकर्षण का तरीका है

लाउड स्पीकर पर हनुमान चालीसा को लेकर उन्होंने कहा कि जब यह (लाउड स्पीकर पर अजान) नहीं रोका जा रहा है तो इसके विरोध में हनुमान चालीसा पढ़ रहे हैं। यह विरोध प्रदर्शन का एक तरीका है। यह नियमित चली आ रही चीज नहीं है। यह ध्यानाकर्षण करने का तरीका है। जो भी नियम में हो वह होना चाहिए। लाउड स्पीकर पर बंद होना चाहिए।

15 मई को सूर्य वृषभ राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों की चमक उठेगी किस्मत, मिलेगी अपार सफलता

मुख्यमंत्री खुद ओबीसी समाज से आते हैं, भाजपा ने एससीएसटी, ओबीसी का हित चाहा है

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जितना हिन्दुओं के खिलाफ काम किया है, विरोध किया है फिर राम मंदिर कह ले, राम सेतु कह ले, उन लोगों के खिलाफ हिन्दू समाज जागृत हुआ है। वे उसे ठीक करने की कोशिश कर रहे हैं। समाज जागरुक व समझदार है। वह जानता है भाजपा ही देश के लिए सही है। भाजपा ने हमेशा से ही चाहे वह एससीएसटी हो, ओबीसी हो, का कल्याण हो इसका प्रयास किया है। मुख्यमंत्री खुद ओबीसी समाज से आते हैं, भाजपा ने हमेशा एससीएसटी, ओबीसी का हित चाहा है। कांग्रेस ने पंचायत चुनाव को लेकर आरक्षण के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर की थी। उन्होंने पंचायत चुनाव रुकवाने का पूरा प्रयास किया था। मुझे लगता है चुनाव होने चाहिए और ओबीसी आरक्षण के साथ होना चाहिए। मैंने कोर्ट का पूरा फैसला नहीं पढा है लेकिन हमारी सरकार इसी दिशा में काम कर रही है।

Powered by Blogger.