Russia के हमले से पहले Ukraine से सुरक्षित दिल्ली की फ्लाइट से रीवा के लिए रवाना हुआ प्रज्वल तिवारी

 

     Russia के हमले से पहले Ukraine से सुरक्षित दिल्ली की फ्लाइट से रीवा के लिए रवाना हुआ प्रज्वल तिवारी

( ग्राउंड एमपी 17 ऋतुराज द्विवेदी की रिपोर्ट ) REWA NEWS : यूक्रेन के टेरनोपिल में MBBS की पढ़ाई करने गया मध्यप्रदेश के रीवा जिले का प्रज्जवल तिवारी रूस के हमले से पहले सुरक्षित निकल आया है। परिजनों का दावा है कि 23 फरवरी को एयर इंडिया की फ्लाइट में सवार होकर कजाकिस्तान के रास्ते इंडिया आ रहे हैं। यह फ्लाइट 24 फरवरी की शाम दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचेगी।

Russia vs Ukraine : यूक्रेन पर हमले शुरू : बेटी को भारत लाने के नाम पर 42 हजार रुपए की ठगी; FIR दर्ज

प्रज्जवल तिवारी के ​पिता बुद्धसागर तिवारी ने भावुक होकर ईश्वर का धन्यवाद दिया है। कहा है कि अब बेटा सुरक्षित है। भारत सरकार ने समय पर मेरे बेटे की मदद कर दी। जिससे हमारा बेटा रूस के हमले से पहले सुरक्षित निकल आया है। मैं केन्द्र सरकार का धन्यवाद देता हूं। अब बेटे की वतन वापसी से हमारे घर में त्योहार जैसा माहौल है।

अजब गजब : घरातियों ने बारातियों को बनाया बंधक : दूल्हे के दोस्तों ने दुल्हन और उसकी सहेलियों को छेड़ा, वर पक्ष ने लगाया 75 हजार की लूट का आरोप

जवा तहसील के रामबाग में है गांव

प्रज्जवल तिवारी जवा तहसील के रामबाग गांव के रहने वाला है। पिता बुद्ध सागर तिवारी गांव में ही हार्डवेयर की दुकान चलाते हैं। दो भाई और एक बहन में सबसे बड़ा प्रज्जवल है। वह टेरनोपिल स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी में MBBS सेकंड ईयर का छात्र है। जो करीब 1 साल 3 माह से यूक्रेन में हॉस्टल में रह रहा था। लेकिन रूस के हमले से यूक्रेन से निकल आए हैं।

यूक्रेन में MBBS की पढ़ाई कर रहा रीवा का युवक प्रज्जवल फ़सा : परिजनों को बताए युद्ध के हालत, टेलीकाम और इंटरनेट सेवाए ठप

माता-पिता की जान में जान आई

बता दें कि 10 दिन पहले जब रूस ने हमले की चेतावनी जारी की थी। तब से प्रज्जवल के माता-पिता भोजन छोड़ दिए थे। दिन रात बेटे की याद में रोते-बिलखते रहते थे। वहीं, दूसरी तरह प्रज्जवल इंडियन एंबेसी से लगातार संपर्क में था। उसको उम्मीद थी कि ईश्वर कहीं न कहीं से मदद करेगा। ऐसे में भारत सरकार ने समय रहते मदद उपलब्ध करा दी, जिससे माता पिता की जान में जान आई है।

Related Topics

Share this story

From Around the Web

Most Read