MP : गृहमंत्री बोले सोशल मीडिया पर चल रही सत्ता और संगठन में परिवर्तन की खबरें फेक : शिवराज हमारे मुख्यमंत्री थे, है और रहेंगे


मध्य प्रदेश भाजपा संगठन के नेताओं की आपसी मुलाकातों को लेकर लगाई जा रहीं अटकलों पर सोमवार को विराम लगता दिख रहा है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सोशल मीडिया पर चल रही सत्ता और संगठन में परिवर्तन की खबरों को फेक बताया। मिश्रा ने कहा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हमारे मुख्यमंत्री थे, हैं और रहेंगे। सोशल मीडिया पर चल रही खबरें फेक हैं। मिश्रा ने कहा कि वाट्सऐप ऐसी यूनिवर्सिटी है, जिसका वाइस चांसलर बनने के लिए डिग्री की जरूरत नहीं है, जो खबरें वायरल हो रही हैं, वह फर्जी हैं।

गुरुवार से पूरी राजधानी होगी UNLOCK : सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगाना अनिवार्य, ये दुकानें खुलेंगी : सिर्फ संडे रहेगा लॉकडाउन

इसके बाद भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों को खारिज किया। उन्होंने कहा, प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के नेतृत्व में ही चलेगा। उन्होंने खुद को सीएम की दौड़ से बाहर बताते हुए कहा कि मैं अभी कहीं और लगा हूं।

हुस्न का नया फरेब शुरू/ वीडियो कॉल में हुस्न की परियां निवस्त्र होकर पुरुषों से उतरवाते हैं कपड़े, फिर...

बता दें, पिछले कुछ दिनों से मध्य प्रदेश में भाजपा संगठन और आरएसएस पदाधिकारियों का एक-दूसरे से मुलाकातों का दौर चल रहा था। इनमें बंद कमरे में बैठक हो रही थी। इसे लेकर सोशल मीडिया पर अलग-अलग कयास लगाए जा रहे थे। इसकी शुरुआत कुछ दिन पहले भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से अचानक मुलाकात करने के बाद शुरू हुई। इसके बाद विजयवर्गीय ने सांसद और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल से भी दिल्ली में मुलाकात की।

छेड़छाड़ करने वाले मनचले को फटकार लगाना एक छात्रा को पड़ा भारी, छात्रा का नंबर वायरल कर लिखा- कॉल गर्ल, 100 से ज्यादा काॅल आते : फिर ..

इन मुलाकातों के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने भी गृहमंत्री से बंद कमरे में मुलाकात की। इसके बाद बीडी शर्मा और संगठन के अन्य पदाधिकारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी मुलाकात करने पहुंचे। नेताओं की मुलाकात का दौर भोपाल से लेकर दिल्ली तक चला। इसके बाद सत्ता और संगठन में बड़े बदलाव के कयास लगाए जाने लगे। एक दिन पहले राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के भोपाल दौरे पर आने की खबर ने भी अटकलों को हवा दे दी।

ब्लैक फंगस इंजेक्शन से मरीजों में रिएक्शन : इंदौर के कई अस्पतालों में ऐसी शिकायत, सागर में लगाई राेक

इसके बाद सोशल मीडिया पर खबरें वायरल होने लगीं कि शिवराज सिंह चौहान केन्द्र में जाएंगे। उनकी जगह राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और प्रदेश अध्यक्ष और सांसद बीडी शर्मा के नाम मुख्यमंत्री की दौड़ में शामिल हैं। इसके बाद एक दूसरी खबर चलने लगी कि गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने 30 विधायकों के साथ मुख्यमत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। हालांकि इन खबरों को भाजपा संगठन से जुड़े लोगों ने असत्य बताया। अब गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के बयान ने सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है।

इंदौरियों को प्रशासन ने दी राहत : इन्हें "सोमवार से" सशर्त छूट : शॉपिंग मॉल, बसें अभी बंद

भोपाल में नेताओं का जमावड़ा सामान्य है

नेताओं का भोपाल में जमावड़ा और सीएम का दिल्ली दौरे को लेकर कैलाश विजयवर्गीय का कहना था, यह सामान्य बात है, लेकिन पत्रकारों को रोजाना नई कहानी मिल रही है। आप रोज कहानियां लिखें, लेकिन किसी की बात में दम नहीं है। सिंधिया के भोपाल दौरे को लेकर विजयवर्गीय ने साफ कर दिया कि यह सामान्य आना जाना है।

Powered by Blogger.