REWA : प्रेम-प्रसंग का मामला : SAF की 25वीं बटालियन के जवान ने किया सुसाइड, नदी के किनारे पेड़ में लटका मिला शव,

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

 

रीवा। SAF की 25वीं बटालियन में पदस्थ एक जवान के सुसाइड का मामला सामने आया है। बताया गया कि लक्ष्मण बाग आश्रम में सी कंपनी का कैंप पड़ा था। जहां से देर रात आरक्षक उठकर बाहर निकला और नदी के किनारे रस्सी का फंदा लगाकर फांसी लगा ली। सुबह जब SAF 25वीं बटालियन के अन्य जवान नदी की ओर टहलने गए तो आरक्षक का शव फंदे से लटका मिला।

रीवा सांसद का जागरूक संदेश : पद यात्रा निकाल ग्रामीणों से रूबरू होकर घर-घर वैक्सीनेशन कराने का दे रहें संदेश

आनन फानन में SAF के आला अधिकारियों को सूचना देकर बिछिया पुलिस को सूचना दी गई। जानकारी के बाद पहुंची बिछिया पुलिस ने शव को बरामद कर मर्चुरी में रखा दिया है। साथ ही परिजनों को सूचना दे दी गई। कयास लगाए जा रहे है सोमवार की देर रात तक परिजन रीवा पहुंच जाएंगे।

वर्षों तक युवती से प्यार का नाटक कर युवक ने कई बार शारीरिक संबंध बनाए, सुहागरात से पहले धोखेबाज प्रेमी को पीड़ित प्रेमिका ने पहुंचाया जेल

मिली जानकारी के मुताबिक सतीश निगवाह पिता गोपाल निगवाह (27) निवासी बड़वानी जिला SAF की 25वीं बटालियन रीवा में पदस्थ था। जिसकी सी कंपनी का कैंप लक्ष्मण बाग स्थित बापू भवन में पड़ा था। वह रोजाना की तरह अपनी ड्यूटी करने के बाद रात में सो गया।

हाकर्स कार्नर में दो पक्षों के बीच मारपीट के बाद चली गोली, इलाके में खींचा सनका : मौके पर पहुंची पुलिस

साथ ही अन्य SAF के जवान जैसे ही सो गए तो सतीश निगवाह रात में नदी के किनारे पहुंचा और फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। सुबह जब कुछ जवान नदी की ओर टहल रहे थे, तभी सतीश का शव पेड़ से लटकता दिखा। ऐसे में SAF के अधिकारियों को अवगत कराया। इसके बाद SAF के जिम्मेदारों ने परिजनों को मामले की जानकारी देते हुए पुलिस को सूचना दी।

प्रदेशभर में सबसे अधिक रीवा में रक्तदान, शिविर में युवाओं ने बढ-चढकर लिया हिस्सा : कलेक्टर ने खुद रक्तदान कर बढ़ाया रक्तवीरों का हौसला

बाहर कहीं प्रेम संबंध की चर्चा

दबी जुबान अन्य SAF के जवानों ने कहा है कि उसका बाहर कहीं प्रेम संबंध था। जिससे वह कई महीनों से परेशान रहता था। हालांकि प्रेम-प्रसंग के बाद कुछ अनबन भी हुई थी। जिसके बाद आरक्षक ने शादी कर लिया था। फिर कोई नई अड़चन आ गई थी। इसलिए परेशान होकर शायद आत्मघाती कदम उठा सकता है। हालांकि बिछिया पुलिस ने इन सब बातों को सिरे से खारिज करते हुए परिजनों के बयान का इंतजार कर रही है। जो सोमवार की रात तक बड़वानी से रीवा पहुंच जाएंगे।

रीवा हॉस्पिटल में 10 घंटे के ऑपरेशन बाद फटी हुई नस और हड्डी जोड़कर डॉक्टरों ने मरीज की बचाई जान

एक सप्ताह के अंदर दूसरे आरक्षक का सुसाइड

बता दें कि पांच दिन पहले शाहपुर थाने के खटखरी चौकी में पदस्थ आरक्षक वरुण तिवारी निवासी बकिया जिला सतना ने सुसाइड कर लिया था। उस दिन आरक्षक ने सुसाइड से पहले कमरे को अंदर से बंद कर रखा है। फिर परिजनों की मौजूदगी में गेट तोड़कर शव बाहर निकाला था। वहीं अब

रीवा जिले में दूसरे आरक्षक की आत्महत्या से सनसनी फैल गई है।

Powered by Blogger.