MP : प्रेमी ने प्रेमिका के मामा को फोन कर कहा- मैंने तुम्हारी भांजी को मारकर नाले में फेंक दिया : फिर ...

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

भोपाल में 23 साल की कशिश की हत्या उसके ही प्रेमी ने की थी। हत्या के बाद आरोपी ने शुक्रवार रात ही कशिश के मामा को फोन लगा कर कहा था - मैंने तुम्हारी भांजी को मार दिया है। उसे नाले में फेंक दिया है। ढूंढ सको तो ढूंढ लो। इधर, फोन आने के बाद मामा की शिकायत पर निशातपुरा और खजूरी थाना पुलिस ने देर रात कशिश की तलाश में जुट गई। इसके बाद आरोपी फरार हो गया। काफी कोशिशों के बाद भी पुलिस को रात में न तो कशिश का शव मिला था और न ही कोई जानकारी ही। अब तक हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है।

हत्या का खुलासा : युवक लड़की पर जबरन बना रहा था शादी करने का दबाव, लड़की ने संबंध रखने से मना कर दिया तो पेट में चाकू घोंपकर मार डाला

निशातपुरा क्षेत्र में रहने वाले कशिश के मामा राजेश झांझा ने बताया, शुक्रवार दोपहर कशिश अख्तर अली के साथ गई थी। वह दोनों दोस्त थे, इसलिए उन्होंने उसे जाने से रोक नहीं। देर रात अख्तर ने उन्हें फोन किया। बोला- मैंने कशिश को जान से मार दिया है। अब तुम उसकी लाश ढूंढ सको, तो ढूंढ लो। मैंने उसका शव IISER (आइसर) के पास फेंक दिया है। राजेश की सूचना पर पुलिस ने खजूरी पुलिस के साथ उसकी तलाश शुरू की, लेकिन पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा। शनिवार दोपहर लोगों की सूचना पर शव पुलिस को मिला।

सरकारी कर्मचारियों को सरकार ने रक्षाबंधन का दिया गिफ्ट ; आदेश जारी : पढ़ लीजिए ये जरुरी ख़बर

पहले सिर पर डंडा मारा

पुलिस के अनुसार कशिश की पहले बेरहमी से पिटाई की गई। उसके सिर पर डंडा मारा गया है। घटनास्थल से भी खून से सना डंडा भी मिला है। इसके बाद आरोपी ने उसके पेट और सीने में चाकू से वार किए। इसी से मौत हो गई। घर के अंदर खून के धब्बे भी मिले हैं। हत्या के बाद अख्तर ने कशिश का शव एक बोरी में बांधकर घर से कुछ दूरी पर नाले पर फेंक दिया।

प्रेमी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज : शादी के नाम पर झांसा देकर 11 साल तक युवती से संबंध बनाता रहा, फिर पता चला युवक पहले से शादीशुदा है

इसलिए रात को नहीं खोज पाई पुलिस

पुलिस को रात को ही कशिश की हत्या होने की आशंका हो गई थी, लेकिन आरोपी ने जो घटनास्थल बताया था, उसके आसपास पुलिस को कुछ भी नहीं मिला था। कशिश के परिजनों को भी अख्तर के घर का पता नहीं पता था। दोनों के फोन भी बंद थे। ऐसे में पुलिस कशिश की लाश या उसकी लोकेशन का पता नहीं लगा पाई।

महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा

मामा के पास रहती थी

कशिश के मामा ने बताया, वह अपने भाई और बड़ी बहन से अलग रह रही थी। उसकी मां ने दो शादियां की हैं, इसलिए वह उनके पास रह रही थी। पोस्टमाॅर्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया। बताया जाता है, कशिश के पहले पिता उसका शव अपने साथ ले गए।

शादी समारोह में शामिल होने आई रिश्ते की भाभी से दूल्हे ने कई बार किया रेप : मददगार बनी बहन सहित आरोपी गिरफ्तार

आरोपी के पकड़े जाने पर होगा खुलासा

खजूरी थाने की TI संध्या मिश्रा ने बताया, आरोपी यहां अकेला रह रहा था। वह प्राइवेट जॉब करता था। उसके बारे में पता लगाया जा रहा है। अब तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। गिरफ्तारी के प्रयास कर रहे हैं। उसके पकड़े जाने के बाद ही कारणों का पता चल सकेगा। कशिश के परिजन भी अभी कुछ स्पष्ट नहीं कह पा रहे हैं। हालांकि अब तक की पूछताछ में रुपयों के लेनदेन का विवाद सामने आया है।

Powered by Blogger.