REWA : भाजपा के पूर्व महापौर शिवेन्द्र सिंह के खिलाफ समान थाने में FIR दर्ज : नगर निगम की टीम के साथ अभद्रता और गाली-गलौज का आरोप

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा से भाजपा के पूर्व महापौर शिवेन्द्र सिंह के खिलाफ समान थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। आरोप है कि 27 जुलाई को नगर निगम के अतिक्रमण दस्ते से विवाद करते​ हुए अभद्रता किए थे। 5 दिन बाद उपयंत्री मनोज सिंह की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई है।

कच्चा मकान ढहने से मलवे में दफन हो गई चार जिंदगी, दम घुटने से निकले प्राण : दो लोग गंभीर रूप से अस्पताल में भर्ती

समान पुलिस ने आईपीसी की धारा 353, 294, 186, 34 का अपराध कायम किया है। इधर, शनिवार को इसी मामले का वीडियो भी वायरल हुआ है। जिसमें पूर्व मेयर शिवेंद्र सिंह ​नगर निगम के अधिकारियों को गाली दे रहे हैं।

पहली बार नई लोकेशन की नई दरें : जिलेभर के 355 नए लोकेशन कलेक्टर गाइडलाइन में शामिल : 50 हजार रुपए प्रति वर्गमीटर की दर से होगी रजिस्ट्री : पढ़िए पूरी जानकरी

मिली जानकारी के मुताबिक इंदिरा नगर स्थित सरस्वती स्कूल के पास पू्र्व महापौर शिवेंद्र सिंह के भाई कमलभान सिंह हैवी वेल्डिंग मशीन की दुकान संचालित करते हैं। जहां दुकान का छज्जा और समान बाहर पड़ा रहता था। साथ ही मोहल्ले के लोगों ने शोर शराबे की शिकायत नगर निगम कार्यालय में दर्ज कराई थी।

चाचा ने अपनी ही भतीजी पर कुल्हाड़ी से किया ताबड़तोड़ वार, गंभीर हालत में युवती संजय गांधी ​में भर्ती

ऐसे में निगम का दस्ता बीते 27 जुलाई को मौका मुआयना करने पहुंचे थे। जहां पर पूर्व महापौर शिवेन्द्र सिंह ने अतिक्रमण दस्ते की कार्रवाई का विरोध किया। जब निगम के उपयंत्री मनोज सिंह ने सख्ती दिखाई तो वह विवाद करते हुए गाली-गलौज करने लगे। पूर्व महापौर यहीं नहीं रुके, बल्कि सालों की खुमारी निगम दस्ते पर ही उतार दी।

पांच दिन से चल रही भारी बारिश के कारण तराई क्षेत्र के त्योंथर और जवा में हालात खराब : अचानक जलस्तर बढ़ने से आवागमन प्रभावित

अधिकारियों की सहमति के बाद पहुंची पुलिस के पास शिकायत

सूत्रों की मानें तो घटना वाले दिन नगर निगम के आला अधिकारियों ने मामले को संज्ञान नहीं लिया था, लेकिन ​धीरे-धीरे पूरे मामले की जानकारी बड़े अधिकारियों तक पहुंची तो एफआईआर की स​हमति मिली। फिर नगर निगम के उपयंत्री मनोज सिंह शिकायत लेकर समान थाने पहुंचे। जहां समान पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा सहित अन्य धाराओं का प्रकरण कायम किया है।

जिले में चार बड़े वाटरफॉल बहुती, क्योटी,चचाई व पुरवा का जलवा देखने जमकर पहुंच रहे पर्यटक

FIR तक सिमटा मामला

आरोप है कि नगर निगम के अधिकारी बीते कार्यकाल में 5 साल तक पूर्व महापौर के इसारों पर कार्य करते आ रहे हैं। लेकिन आज उसी अमले के साथ अभद्रता होने पर एफआईआर तक मामले को सिमटा दिया गया है। कांग्रेस सरकार में इसके पहले नगर निगम के भवन में अनावश्यक प्रवेश करने पर रीवा विधायक राजेंद्र शुक्ल सहित अन्य के खिलाफ पूर्व निगमायुक्त सभाजीत यादव ने मामला दर्ज कराया था। यह प्रथा सभाजीत यादव ने डाला था, जिसका निर्वहन किया जाना पद्धति में आ गया है।

Powered by Blogger.